इतिहास के पन्नों में 29 नवंबर...

इतिहास के पन्नों को पलटें, तो पाएंगें कि 29 नवंबर के दिन कनाडा का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था जिसमें विमान में मौजूद सभी लोग मारे गए थे. उधर ब्रिटेन में प्रतिबंधित संगठन आईआरए की सरकार के साथ बातचीत की बात सामने आने पर ब्रितानी संसद में सरकार पर प्रहार हुए थे.

1963: कनाडा में विमान दुर्घटना, 118 की मौत

आज ही के दिन 1963 में कनाडा का एक जेट विमान उड़ान भरने के कुछ मिनटों बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.

इस भयावह दुर्घटना में विमान में मौजूद सभी 118 लोग मारे गए थे. ट्रांस-केनेडा एयरलाइंस के विमान ने मॉंट्रियल से टोरंटो के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन देखते ही देखते कुछ ही मिनटों बाद ये विमान एक मैदान में जा गिरा.

विमान का मलबा एक किलोमीटर तक की दूरी तक जा कर गिरा था.

घायलों को बचाने के लिए एंबुलेंस बुलवाई गईं, लेकिन जब पता चला कि विमान में मौजूद सभी लोग मारे जा चुके हैं, तो उन्हें वापस भेज दिया गया.

घटनास्थल पर मौजूद जांचकर्ताओं ने शिकायत की कि कुछ लुटेरों ने विमान के मलबे और यात्रियों के सामान को लूट लिया था.

इस दुर्घटना के कारण कभी पता नहीं चल पाया था और इसे कनाडा के इतिहास में सबसे भयावह विमान हादसों में गिना जाता है.

1993: आईआरए के साथ सरकार की गुप्त बैठकों की बात सामने आई

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption 1994 में आईआरए के साथ युद्धविराम की घोषणा की गई, लेकिन ये युद्धविराम ज़्यादा दिन तक नहीं चला.

इसी दिन वर्ष 1993 के दिन ही ब्रितानी संसद में कंज़रवेटिव पार्टी की सरकार को विपक्ष ने घेरा था क्योंकि चरमपंथी गुट आईरिश रिपब्लिकन आर्मी यानि आईआरए के साथ सरकार की बातचीत की बात सामने आई थी.

उत्तरी आयरलैंड के सचिव पैट्रिक मेहयू ने कहा था कि सरकार के आधिकारिक रुख़ में कोई बदलाव नहीं आया है जिसके मुताबिक़ आईआरए के साथ तब तक कोई बातचीत नहीं की जाएगी जब तक वो हिंसा त्यागने के समझौते पर हस्ताक्षर न कर दे.

लेकिन उनके इस बयान को विपक्षी दलों ने खारिज कर दिया था और उनके इस्तीफ़े की मांग की थी.

उधर प्रधानमंत्री कार्यालय का कहना था कि आईआरए के साथ बातचीत के रास्ते खुले हैं और युद्घविराम के बाद आगे का रास्ता पकड़ा जा सकता है.

इस मुद्दे पर विपक्ष ने सरकार पर झूठ बोलने का आरोप लगाया.

हालांकि सरकार ने आईआरए से हुई वार्ताओं से जुड़े दस्तावेज़ भी प्रस्तुत किए थे, लेकिन एक सांसद ने दावा किया कि ये दस्तावेज़ जाली हैं.

पंद्रह दिसंबर 1993 को प्रधानमंत्री जॉन मेजर और उनके आयरलैंड के समकक्ष एलबर्ट रेनोल्ड्स ने ‘डाउनिंग स्ट्रीट डिक्लेरेशन’ के नाम की एक संधि पर हस्ताक्षर किए थे.

इस संधि में कहा गया था कि उत्तरी आयरलैंड में ब्रिटेन का किसी भी तरह की आर्थिक और सामरिक रूचि नहीं थी.

इसके अलावा संधि में कहा गया था कि ब्रितानी सरकार आयरलैंड के साथ राजनीतिक समझौते को बढ़ावा देगी, क्योंकि ये जनता की मांग है.

वर्ष 1994 में आईआरए के साथ युद्धविराम की घोषणा की गई, लेकिन ये युद्धविराम ज़्यादा दिन तक नहीं चला.

इसके बाद 1997 में आखिरकार एक नई युद्धविराम संधि पर हस्ताक्षर किए गए.

संबंधित समाचार