अमरीकी ड्रोन गिराने का ईरान का दावा

  • 5 दिसंबर 2011
ड्रोन हवाईजहाज़ इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ईरान का दावा है कि उसने अपनी पूर्वी सीमा पर एक अमरीकी ड्रोन जहाज़ मार गिराया है.

ईरान की सेना ने कहा है कि उन्होंने अमरीका के पायलट रहित एक जासूसी विमान को मार गिराया है.

सेना के अनुसार इस ड्रोन ने ईरान की पूर्वी सीमा का अतिक्रमण किया था.

ईरान ने कहा है कि अगर उसके हवाई क्षेत्र का और अतिक्रमण होगा, तो वो ऐसी कार्रवाई जारी रखेगा.

सेना ने कहा है कि जहाज़ को थोड़ा बहुत नुकसान हुआ है और वो उनके कब्ज़े में है.

ईरान की सेना ने ये भी कहा है कि भविष्य में अमरीकी अतिक्रमण पर उसकी प्रतिक्रिया सिर्फ ईरान की सीमाओं तक ही सीमित नहीं रहेगी.

नैटो का जहाज़?

इस बीच अफ़ग़ानिस्तान में मौजूद नैटो सैन्य बल, आईएसएएफ़, ने कहा है कि जिस अमरीकी ड्रोन विमान को मार गिराया गया है, हो सकता है कि वो वही जहाज़ हो जो पिछले सप्ताह पश्चिमी अफ़ग़ानिस्तान में ग़ायब हो गया था. ईरान और पश्चिमी देशों के बीच ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर काफ़ी समय से विवाद है.

अमरीका और उसके सहयोगियों का मानना है कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम का ध्येय परमाणु हथियार विकसित करना है. लेकिन ईरान इस बात से इंकार करता रहा है. उसका कहना है कि उसका परमाणु कार्यक्रम पूरी तरह शांतिपूर्ण है.

एक वक्तव्य में आईएएसएफ़ ने कहा है, "जिस बिना पायलट वाले जहाज़ की बात ईरान कर रहा है, वो वही अमरीकी जहाज़ हो सकता है जो पिछले सप्ताह एक मिशन पर पश्चिमी अफ़ग़ानिस्तान में उड़ रहा था. उसके ऑपरेटरों का उस पर नियंत्रण नहीं रहा था और वो उसकी स्थिति के बारे में छान-बीन कर रहे थे."

रायटर्स के मुताबिक़ एक अमरीकी अधिकारी ने कहा है कि अमरीका को ऐसे कोई संकेत नहीं मिले हैं कि उसके जहाज़ को मार गिराया गया है.

आरक्यू-170 सेंटीनल

आरक्यू-170 सेंटीनल श्रेणी का ये हवाईजहाज़ राडार की पहुंच से बाहर का ड्रोन विमान है. इसके गुप्त रूप से विकसित करने और इस्तेमाल करने की बात अमरीका ने दो साल पहले ही स्वीकार की थी.

इसे पहली बार 2007 में अफ़ग़ानिस्तान के कंधार एयर बेस में देखा गया था. अमरीकी इसका इस्तेमाल ओसामा बिन लादेन के बारे में जानकारियां जुटाने के लिए भी कर चुके हैं.

इस साल जुलाई में ईरान ने कहा था कि उसने क़ौम शहर के नज़दीक फ़ोरदू परमाणु संयंत्र के ऊपर उड़ रहे एक ड्रोन विमान को मार गिराया था.

इससे पहले पिछले साल जनवरी में ईरना ने कहा था कि उसने खाड़ी में दो 'गुप्तचर पश्चिमी ड्रोन विमानों' को मार गिराया है, हालांकि इस ख़बर की पुष्टि नहीं हो पाई थी.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार