अमरीका विरोध प्रदर्शन भड़का रहा है: पुतिन

रूस इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption रूस में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए पुतिन ने बुधवार को अपना नामांकन दाखिल किया था

रूसी प्रधानमंत्री व्लादिमीर पुतिन ने अमरीका पर आरोप लगाया है कि वो रूस में संसदीय चुनाव के बाद विरोध-प्रदर्शनों को भड़का रहा है.

पुतिन के मुताबिक़ अमरीका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने विरोधी स्वर में बात करके इन प्रदर्शनों के लिए ज़मीन तैयार की और प्रदर्शनकारी सक्रिय हो गए.

व्लादिमीर पुतिन ने बिना नाम लिए उन संस्थाओं की भी निंदा की जो उनके मुताबिक़ विदेशी देशों के इशारों पर काम करते है.

माना जा रहा है कि पुतिन का इशारा रूस की एकमात्र स्वतंत्र चुनाव की देखरेख करने वाली संस्था गोलोस की तरफ़ था. गोलोस को अमरीका और यूरोपीय संघ से आर्थिक मदद मिलती है.

पुतिन ने कहा है कि यूनाईटेड रशिया पार्टी की चुनाव में जीत का विरोध कर रहे लोग राजनीतिक मतलब साध रहे हैं.

उनका मानना है कि ज़्यादातर रूसी अपने देश में यूक्रेन और किर्गिस्तान जैसा राजनीतिक उथलपुथल नहीं चाहते.

प्रदर्शन

रूस में रविवार को हुए मतदान के बाद अब तक सैकड़ो प्रदर्शनकारियों को गिरफ़्तार किया गया है. इस सप्ताह के अंत तक मॉस्को में और भी रैलियाँ निकाले जाने की खबर है.

यूरोप में स्थित ऑर्गनाइज़ेशन फॉर सिक्योरिटी एंड कॉऑपरेशन (ओएससीई) के चुनावी पर्यवेक्षकों ने सोमवार को कहा था कि मतों की गिनती में गड़बड़ी हुई थी.

रूस के चुनाव आयोग की तरफ़ से जारी किए गए मतदान के नतीजों में पुतिन की पार्टी विजेता के रूप में उभर कक आई थी. हालाँकि पिछली बार की अपेक्षा इस बार उनकी पार्टी यूनाईटेड रशिया के समर्थन में काफ़ी गिरावट आई है.

रूसी राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने चुनाव का समर्थन करते हुए कहा है कि मतदान में कोई गड़बड़ी नही की गई थी.

संबंधित समाचार