इतिहास के पन्नों से 12 दिसंबर

  • 12 दिसंबर 2011
इमेज कॉपीरइट Delhi State Archives
Image caption 1911 में ब्रिटिश सरकार ने दिल्ली दरबार का आयोजन किया गया

इतिहास के पन्नों में 12 दिसंबर को कई महत्त्वपूर्ण घटनाएँ दर्ज हैं.

1911- दिल्ली बनी भारत की राजधानी

आज ही के दिन 1911 में ब्रिटिश सरकार ने दिल्ली दरबार का आयोजन किया.

इस दिल्ली दरबार में मौजूद हज़ारों की भीड़ के सामने ब्रिटेन के सम्राट जॉर्ज पंचम ने भारत की राजधानी कलकत्ता से दिल्ली लाने की घोषणा की.

भव्य आयोजन के लिए दिल्ली शहर से दूर बुराड़ी इलाक़े को चुना गया .

इस दिल्ली दरबार में भारत के अलग-अलग राजा-रजवाड़े, उनकी रानियां, नवाब सहित भारत भर से आए 'अतिविशिष्ट' अतिथियों ने हिस्सा लिया.

लोगों के ठहरने के लिए हज़ारों की संख्या में लगाए गए अस्थाई शिविरों के रुप में चंद दिनों के लिए शहर से दूर एक पूरा शहर खड़ा किया गया.

जॉर्ज पंचम और क्वीन मैरी की सवारी चांदनी चौक में आम लोगों के बीच से गुज़री ताकि जनता न सिर्फ़ अपने राजा को एक झलक देख सकें बल्कि अंग्रेज़ी साम्राज्य की शानो-शौकत से भी रूबरू हो सकें.

1911 की उस ऐतिहासिक घोषणा के बाद अंग्रेज़ों ने नई दिल्ली की नींव रखी और इस शहर को देश की राजधानी का जामा पहनोने की क़वायद शुरु की.

1969 इटली में बम धमाके

आज ही के दिन इटली के मिलान शहर में हुए एक बम धमाके में कम से कम 13 लोग मारे गए थे.

ये धमाका एक बैंक में हुआ था. एक और बम पुलिस ने मिलान के ओपेरा हाउस के पास बरामद किया.

राजधानी रोम में भी दो अलग-अलग जगहों पर धमाके हुए. यहाँ भी एक धमाका बैंक मे और दूसरा मेमोरियल में हुआ. इन धमाकों में कम से कम 14 लोग घायल हुए.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार