इराक़ में निवेश करे अमरीका: मलिकी

  • 14 दिसंबर 2011
इमेज कॉपीरइट Getty

इराक़ के प्रधानमंत्री नूरी अल मलिकी ने अमरीकी व्यवसायियों से कहा है कि वे इराक़ में निवेश करें ताकि उनका देश युद्ध के परिणामों से उबर सके.

ये आग्रह ऐसे समय आया है जब अमरीका इराक़ से अपने सैनिक हटाने की तैयारी में है.

अमरीका दौरे पर पहुँचे नूरी अल मलिकी ने कहा कि सुरक्षा स्थिति में सुधार हुआ है और सैन्य जनरलों के बजाए कंपनियाँ इराक़ का भविष्य तय कर रही हैं. इराक़ में कुल विदेशी निवेश में अमरीका का हिस्सा 0.1 फ़ीसदी है.

नूरी अल मलिकी के साथ 40 इराक़ी बिज़नेस नेता भी आए हैं ताकि कुछ व्यापारिक समझौते हो सकें.

'तेल से आगे भी सोचें'

इमेज कॉपीरइट Getty

इराक़ी प्रधानमंत्री ने संभावित निवेशकों से कहा कि तेल के अलावा भी ऐसे कई क्षेत्र हैं जिनमें उनकी रुचि हो सकती है जैसे स्वास्थ्य सेवा, दूरसंचार, निर्माण और वित्तीय सेवा.

उनका कहना था कि इराक़ की अर्थव्यवस्था में विविधता लाने का काम अमरीकी कंपनियों से बेहतर कोई नहीं कर सकता.

नूरी अल मलिकी ने सोमवार को अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा से मुलाक़ात की थी. ओबामा ने बैठक के बाद कहा था कि इराक़ी अर्थव्यवस्था चीन और भारत से भी ज़्यादा गति से आगे बढ़ेगी.

ओबामा ने इस बात की भी पुष्टि की है कि अगले साल इराक़ में कोई अमरीकी सैनिक या अड्डे नहीं रहेंगे लेकिन इराक़ के साथ मज़बूत रिश्ता कायम रहेगा.

2011 में इराक़ में 70 अरब डॉलर का विदेशी निवेश हुआ है. लेकिन बीबीसी संवाददाता का कहना है कि सुरक्षा और कुछ क्षेत्रों में नियामकों की भ्रमित करने वाली नीतियों को लेकर अमरीका में चिंता है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार