क्रिसमस का व्यवसायीकरण सही नही: पोप

Image caption पोप बेनडिक्ट 16 ने क्रिसमस के व्यावसायीकरण की कड़ी आलोचना की है

ईसाईयों के धर्म गुरू पोप बेनेडिक्ट 16 ने क्रिसमस के व्यवसायीकरण की कड़ी आलोचना की है.

क्रिसमस की पूर्व संध्या पर रोम में सेंट पीटर बैसेलिका में आयोजित सभा में उन्होंने श्रद्धालुओं से कहा कि इस अवसर को सतही तड़क-भड़क से दूर करके देखें.

पोप ने श्रद्धालुओं से आग्रह किया कि वो जीजस के जन्म की कहानी पर ही ध्यान केंद्रित करें और सच्चे आनंद व प्रकाश की खोज करें.

84 साल के पोप बेनडिक्ट 16 लोगों को संबोधित करने के लिए चलते फिरते मंच का इस्तेमाल किया.

पोप ने पूरे विश्व में बढ़ रही हिंसक घटनाओं पर खे़द जताया और ग़रीबी व अभाव की ज़िदगी जी रहे लोगों के लिए प्रार्थना की.

पोप क्रिसमस के अवसर पर अपना वार्षिक भाषण कुछ घंटो बाद देंगें.

श्रद्धालुओ का जमावड़ा

इस बीच, दुनियाभर से हज़ारों की संख्या में इसाई श्रद्धालु क्रिसमस के मौके पर बेथलेहम में इक्ट्ठा हैं. बेथलेहम को ईसा मसीह का जन्मस्थल माना जाता है.

सामुहिक प्रार्थनाओं यानि 'मिडनाइट मास' के साथ शुरु हुए इस जश्न में बेथलेहम का 1700 साल पुराना वह चर्च भी शामिल है जिसे ईसा मसीह की जन्म-स्थली माना जाता है.

क्रिसमस के मौके पर दुनियाभर से आए एक लाख बीस हज़ार से भी ज़्यादा लोग फ़लस्तीन के पश्चिमी तट में मौजूद हैं. पर्यटकों की संख्या इस साल 30 फ़ीसदी ज़्यादा रही है.

क्रिसमस के मौके पर इसराइली सीमा में मौजूद यरूशलम से फ़लस्तीनी सीमा में मौजूद बेथलेहम तक आए कई लोगों ने इसराइल और फ़लस्तीन के बीच शांति बहाली की भी कामना की.

अमरीका से आने वाले इर्मा गोल्डस्मिथ ने समाचार एजेंसी एपी से कहा, ''मैं बेथलेहम में क्रिसमस को हर साल टीवी पर देखता हूँ लेकिन यहाँ खुद आने में बड़ा फर्क है. जहाँ ईसा मसीह ने जन्म लिया हो वहाँ होना गज़ब बात है.''

फ़लस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने भी समारोह में भाग लिया.

उन्होंने कहा, ''मैं फ़लस्तीनी लोगों के लिए कामना करता हूँ कि फ़लस्तीनी धरती पर अगला साल शांति बहाल करने करने वाला साल हो.''

संबंधित समाचार