मिसाइलों का परीक्षण नहीं किया: ईरान

मिसाइल इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मिसाइलों का प्रक्षेपण दस दिन के नौसेना के अभ्यास के दौरान किया गया.

ईरान के वरिष्ठ नौसेना कंमाडर महमूद मुसावी ने कहा है कि उनका देश आने वाले दिनों में कई मिसाइलों का परीक्षण करेगा. इससे पहले ये ख़बरें आई थीं कि ईरान ने खाड़ी क्षेत्र में लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइलों का परीक्षण किया है.

ईरान के सरकारी सामाचार चैनल 'प्रेस टीवी' के हवाले से नौसेना के वरिष्ठ कंमाडर महमूद मुसावी ने इन खबरों का खंडन करते हुए कहा,'' मिसाइलों के प्रक्षेपण का अभ्यास आने वाले दिनों में किया जाएगा.''

इससे पहले ईरान की सरकारी समाचार एजेंसी 'फ़ार्स' ने मिसाइलों के परिक्षण की जानकारी देते हुए कहा था कि ये मिसाइले ज़मीन से समुद्र में दाग़ी गईं और मिसाइलों का परीक्षण दस दिन के नौसेना के अभ्यास के दौरान किया गया.

ईरान इससे पहले इस तरह के संकेत दे चुका था कि वो कम, मध्यम और लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइलों का परीक्षण करेगा.

मंगलवार को ईरान की सरकार ने धमकी दी थी कि अगर पश्चिमी देशों ने उसके परमाणु कार्यक्रम के कारण उस पर प्रतिबंध लगाए तो वो 'स्ट्रेट ऑफ़ हॉरमूज़' को बंद कर देगा.

बयानबाज़ी

'स्ट्रेट ऑफ़ हॉरमूज़' खाड़ी और तेल उत्पादक देशों बहरीन, कुवैत, क़तर, सउदी अरब और अरब अमिरात को को हिंद महासागर से जोड़ता है.

टैंकरों के ज़रिए पूरी दुनिया में पहुंचने वाला क़रीब 40 फ़ीसदी तेल यहीं से होकर गुज़रता है.

इस बयान के तुरंत बाद अमरीका ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ऐसे बयान को बर्दाशत नहीं किया जाएगा.

वाशिंगटन और अन्य पश्चिमी देश ईरान पर ये आरोप लगाते रहे हैं कि वे परमाणु हथियार बनाने के कार्यक्रम की दिशा में काम कर रहा है.

हालांकि इन आरोपों का तेहरान हमेशा ख़ारिज करता रहा है

ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि ईरान ने ये परीक्षण किए हों लेकिन ये परीक्षण बहुत ही नाज़ुक हालात में किए गए हैं.

संबंधित समाचार