इतिहास के पन्नों में दो जनवरी

आज का दिन इतिहास में कई कारणों से याद किया जाएगा.आज ही के दिन साल 1971 में 66 फुटबॉल के प्रशंसक मारे गए थे और बोसनिया में शांति योजना पर तीन अलग-अलग गुटों ने बातचीत की.

हादसे में 66 फुटबॉल प्रशंसकों की मौत

इमेज कॉपीरइट bestpix
Image caption सेल्टिक और रेंजरस दो मज़बूत प्रतिद्वंदी टीमें हैं.

दो जनवरी साल 1971 में ग्लासगो के इब्रॉक्स पार्क में दो मज़बूत प्रतिद्वंदी टीमें सेल्टिक और रेंजर्स के बीच हुए फुटबॉल मुक़ाबले के बाद घटी घटना में 66 लोग मारे गए थे.

ये हादसा उस समय हुआ जब मैच देखकर प्रशंसक सुरक्षा घेरे को तोड़कर स्टेडियम से बाहर निकल रहे थे.

प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार रेंजर्स टीम के सैकड़ो की संख्या में प्रशंसक इस आशंका में स्टेडियम छोड़कर भागने लगे कि सेल्टिक जीत जाएगी और उनके सीढ़ियों से उतरते वक़्त ये हादसा हो गया.

बॉसनिया में शांति के लिए वार्ता

इसी दिन साल 1993 में बॉसनिया के तीन अलग-अलग गुटों ने वहाँ नौ महीने से जारी लड़ाई को समाप्त करने और शांति स्थापित करने के मक़सद से बैठक की थी.

अप्रैल महीने में युद्ध छिड़ने के बाद ऐसा पहली बार हुआ था जब बॉसनिया के सर्ब,मुस्लिम और क्रोएट्स के नेताओं ने आमने-सामने बैठ कर बातचीत की थी.

जीनिवा में इस बैठक को संयुक्त राष्ट्र के दो विशेष राजदूतों सायरस वनस और लार्ड ओवन ने इन तीनों गुटों को एक बैठक करने को कहा था.

इन दोनों राजदूतों ने बॉसनिया को 10 स्वायत्त प्रांतों में बांटने और विकेंद्रीकृत सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया गया था.

इस प्रस्ताव में ये भी कहा गया था कि इस सरकार को तीन गुट मिल कर चलाएंगे.

ब्रिटेन में कर्मचारियों की हड़ताल

साल 1980 में इसी दिन ब्रिटिश स्टील कॉर्पोरेशन प्लांट में काम करने वाले कर्मचारियों ने पचास साल में पहली हार राष्ट्रीय स्तर पर हड़ताल की थी.

उन कर्मचारियों की मांग थी कि उनके वेतन में 20 प्रतिशत की वृद्धि की जाए.

प्रबंधन ने कड़ी शर्तों के साथ वेतन में छह प्रतिशत की बढ़ोतरी करने का प्रस्ताव दिया था.

उन कर्मचारियों को ये भी डर था कि प्लांट की मुनाफ़े कमाने की लंबी योजना से कुछ प्लांट बंद हो जाएंगे जिससे हज़ारों की संख्या में नौकरियाँ जाएगी.