सीरिया में फ़ायरिंग तुरंत रोकी जाए: अरब लीग

नबील अल-अरबी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption नबील अल-अरबी ने कहा कि सीरिया में हर तरह की हिंसा रोकी जानी चाहिए.

अरब लीग के महासचिव नबील अल-अरबी ने सीरिया में फ़ायरिंग को तुरंत रोकने की मांग की है और कहा है कि सरकार समर्थक बंदूक़धारी अभी भी आम नागरिकों के लिए ख़तरा बने हुए हैं.

क़ाहिरा में अरब लीग के केंद्रीय दफ़्तर में एक प्रेस कांफ़्रेंस को संबोधित करते हुए नबील अल-अरबी ने कहा कि अरब लीग को अपना काम पूरा करने के लिए अभी और समय चाहिए.

संयुक्त राष्ट्र के आकलन के मुताबिक़ सीरिया में मार्च से शुरू हुए सरकार विरोधी प्रदर्शनों में अब तक पांच हज़ार से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

अरब लीग के 60 पर्यवेक्षक सीरिया और अरब लीग के बीच हुए शांति समझौते पर निगरानी रखने के लिए सीरिया में पिछले एक सप्ताह से मौजूद हैं.

लेकिन दूसरी तरफ़ सीरिया में सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी अरब लीग के पर्यवेक्षकों से ख़ुश नहीं हैं क्योंकि उनके अनुसार ये पर्यवेक्षक सरकार की दमनकारी नीति को रोकने में असफल हैं.

सीरिया में हिंसा में कोई कमी नहीं देखी जा रही है और आंदोलनकारियों का कहना है कि अरब लीग के पर्यवेक्षकों के आने के बाद से भी लगभग 390 लोग मारे जा चुके हैं.

आंदोलनकारियों के एक संगठन का कहना है कि सोमवार को बीस लोग मारे गए हैं जिनमें से 11 लोग होम्स शहर में मारे गए हैं.

अरब लीग पर्यवेक्षकों का नेतृत्व कर रहे सूडान के जनरल मुस्तफ़ा अल-दाबी की भी काफ़ी आलोचना हो रही है क्योंकि कुछ लोग उन्हें सीरिया सरकार का समर्थक मानते हैं.

रविवार को अरब लीग की एक सलाहकार समिति ने कहा था कि सीरिया में हिंसा जारी रहने के कारण पर्यवेक्षकों को वापस बुला लिया जाना चाहिए.

'फ़ायरिंग जारी है'

अरब लीग के महासचिव नबील अल-अरबी ने क़ाहिरा में पत्रकारों से कहा कि लीग पर्यवेक्षकों की गतिविधियों पर एक रिपोर्ट जारी करेगी और उसके बाद ये तय किया जाएगा कि इस बारे में कुछ करने की ज़रूरत है या नहीं.

अल-अरबी ने कहा कि सीरियाई सेना ने रिहाइशी इलाक़ों से भारी हथियार उठा लिए हैं और उन्हें शहर से बाहर भेज दिया है लेकिन बावजूद इसके हिंसा ख़त्म नहीं हो रही है.

अल-अरबी का कहना था, ''मैंने पर्यवेक्षक दल के प्रमुख से बात की है और हां फ़ायरिंग अभी भी जारी है. हमलोग चाहते हैं कि हर तरह की हिंसा फ़ौरन रोकी जाए.''

उन्होंने ये भी कहा कि ये कहना मुश्किल है कि कौन किसपर फ़ायरिंग कर रहा है.

अल-अरबी के अनुसार पर्यवेक्षकों के सीरिया आने के बाद से सरकार ने अब तक 3500 क़ैदियों को रिहा कर दिया है.

उन्होंने सीरिया में विपक्षी दल के नेताओं से कहा कि वे उन लोगों की सूची दें जिनके बारे में उन्हें लगता है कि वे सीरिया सरकार की हिरासत में हैं.

राष्ट्रपति बशर अल-असद की सरकार का कहना है कि वो हथियार बंद गुटों के ख़िलाफ़ लड़ रही है और अब तक लगभग दो हज़ार सैनिक मारे जा चुके हैं.

लेकिन सीरिया में अब तक मारे गए लोगों की संख्या और दूसरी ख़बरों की पुष्टि करना मुश्किल है क्योंकि सीरिया की सरकार ने विदेशी मीडिया को सीरिया में आज़ादी के साथ रिपोर्टिंग करने पर कई तरह की पाबंदी लगा रखी है.

संबंधित समाचार