चाँदनी चौक में 'तेंदुलकर मार्ग' का प्रस्ताव

सचिन तेंदुलकर, क्रिकेट खिलाड़ी इमेज कॉपीरइट
Image caption सचिन तेंदुलकर के नाम पर चाँदनी चौक की एक सड़क का नाम रखने का प्रस्ताव है

सचिन तेंदुलकर को भारत रत्न देने की मांग के बाद अब उनके नाम पर सड़कों, चौराहों, स्मारकों के नामकरण की भी मांग उठने लगी है.

दिल्ली के दिल कहे जाने वाले चांदनी चौक की प्रमुख सड़क का नाम सचिन के नाम पर करने के लिए दिल्ली नगर निगम को एक प्रस्ताव भेजा गया है.

इस मुहिम की शुरुआत एक एफ़एम रेडियो ने की और अब चांदनी चौक के पार्षद सुमन कुमार गुप्ता इससे संबंधित प्रस्ताव दिल्ली नगर निगम में पेश करने वाले हैं.

इस बारे में दिल्ली की मेयर प्रोफ़ेसर रजनी अब्बी ने बीबीसी को बताया कि रेडियो चैनल की मुहिम की जानकारी उन्हें है और यदि ऐसा कोई प्रस्ताव आया तो उस पर विचार किया जा सकता है.

अब्बी ने कहा, "सचिन तेंदुलकर देश के महान खिलाड़ी हैं और किसी सड़क का नामकरण उनके नाम पर करने में मुझे कोई आपत्ति नहीं है."

रजनी अब्बी का ये भी कहना था कि जीवित व्यक्तियों के नाम पर सड़कों के नाम पहले भी रखे गए हैं और नेल्सन मंडेला मार्ग इसका उदाहरण है.

लेकिन, कुछ लोगों का ये भी कहना है कि चांदनी चौक एक ऐतिहासिक बाज़ार है. इसकी सड़कें, गलियाँ पहले से ही अपने विशिष्ट नाम से जानी जाती हैं, ऐसे में उनका नाम बदलने से भी लोग पुराने नाम से ही जानेंगे.

चांदनी चौक के स्थानीय लोगों और वहाँ आने वाले लोगों से बात करने पर इस बारे में लोगों की मिश्रित प्रतिक्रिया थी.

राजेंद्र शर्मा की परांठे वाली गली में दुकान है और उनका कहना है कि बेशक सचिन महान खिलाड़ी हैं लेकिन चांदनी चौक की भी अपनी कुछ पहचान है. उसकी सड़कों या चौराहों का नाम बदले पर उनकी पुरानी पहचान ख़त्म हो जाएगी.

वहीं ज़री के सामान बेचने वाले सतपाल चौधरी कहते हैं कि सचिन के नाम से सड़क बनाना ख़ुद चांदनी चौक के लिए गौरव की बात होगी. सतपाल चौधरी का दावा है कि उनकी दुकान 300 साल पुरानी है, बावजूद इसके, वे इस बदलाव का समर्थन करते हैं.

बहरहाल, अभी ये महज़ प्रस्ताव है और एमसीडी में इसी साल चुनाव भी होने हैं. ऐसे में सड़कों, पार्कों, चौराहों के नाम बदलने की प्रक्रिया तेज़ी से चल रही है और चांदनी चौक की मुख्य सड़क का नाम बदलना भी उसी का एक हिस्सा है.

संबंधित समाचार