बम हमले में ईरानी 'परमाणु वैज्ञानिक की मौत'

ईरान में कार पर बम हमला इमेज कॉपीरइट AP
Image caption बम चुंबक के ज़रिए कार से लगा दिया गया था और फिर उसमें विस्फोट हो गया

ईरान की राजधानी तेहरान से मिल रही ख़बरों के अनुसार शहर के उत्तरी हिस्से में हुए एक कार बम विस्फोट में एक परमाणु वैज्ञानिक की मौत हो गई है.

रॉयटर्स समाचार एजेंसी ने ईरानी मीडिया के सूत्रों के हवाले से मारे गए वैज्ञानिक का नाम मुस्तफ़ा अहमदी-रोशान बताया है.

ईरानी समाचार एजेंसी फ़ार्स के अनुसार विस्फोट तब हुआ जब एक मोटर साइकिल सवार ने कार के बगल में बम लगा दिया.

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक़ विस्फोट ईरान के अलामेह ताबाताई विश्वविद्यालय में हुआ.

विस्फोट में दो अन्य लोग घायल बताए जा रहे हैं. शहर के उत्तर में गोल नबी मार्ग के पास ये विस्फोट हुआ.

फ़ार्स समाचार एजेंसी के अनुसार 32 वर्षीय अहमदी-रोशान नातांज यूरेनियम संवर्द्धन संयंत्र के एक विभाग में सुपरवाइज़र थे.

आरोपों से इनकार

पिछले कुछ वर्षों में ईरान में कई परमाणु वैज्ञानिकों की हत्या हो चुकी है. तेहरान इस तरह की हत्याओं की ज़िम्मेदारी इसराइल और अमरीका पर डालता रहा है जबकि वे दोनों इससे इनकार करते हैं.

ठीक दो साल पहले तेहरान विश्वविद्यालय के 50 वर्षीय लेक्चरर मसूद अली मोहम्मदी की एक रिमोट-कंट्रोल वाले बम से हत्या कर दी गई थी जब 12 जनवरी 2010 को वह अपने घर से निकल रहे थे.

फ़ार्स के अनुसार जिस तरह से ये हमला किया गया है वह 2010 के एक अन्य हमले जैसा ही लगता है जिसमें विश्वविद्यालय के एक पूर्व प्रोफ़ेसर फ़ेरेदुन अब्बासी-दावानी घायल हो गए थे.

अभी वह देश के परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रमुख हैं.

ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर काफ़ी विवाद रहे हैं. ईरान का कहना है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए है जबकि अमरीका और अन्य पश्चिमी देश मानते हैं कि वह परमाणु हथियार विकसित कर रहा है.

संबंधित समाचार