इतिहास के पन्नों में 18 जनवरी

इतिहास में 18 जनवरी की तारीख़ कई घटनाओं के लिए महत्वपूर्ण है. इसी दिन इराक़ी स्कड मिसाइलों ने इसराइल पर हमला किया था और बोस्टन के हत्यारे को उम्र क़ैद की सज़ा सुनाई गई थी.

1991: इराक़ी स्कड मिसाइलों का इस्राइल पर हमला

Image caption तेल अवीव और हाफ़ा पर हमला रात में हुआ था जब लोग घरों में सो रहे थे.

इतिहास में 18 जनवरी 1991 को इराक़ ने इसराइल के दो शहरों पर स्कड मिसाइलों से हमला कर दिया था.

इसराइल के तेल अवीव और तटीय नगर हाफ़ा पर ये हमला रात में किया गया था जब ज़्यादातर बाशिंदे सो रहे थे.

हालांकि इस हमले में किसी की मृत्यु नहीं हुई थी, केवल कुछ लोग ज़ख़्मी हो गए थे.

ये पहली बार था जबकि अरब इसराइल लड़ाई में तेल अवीव पर हमला किया गया था.

मध्यपूर्व के देशों में इसराइल के पास सबसे मज़बूत सेना थी और उसने कहा था कि इराक़ की तरफ़ से हुए किसी भी हमले का अंजाम अच्छा नहीं होगा.

इसराइल के प्रधानमंत्री यित्ज़ाक शमिर ने सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की एक आपातकालीन बैठक बुलाकर इसराइल की तरफ़ से जवाबी कार्रवाई की रणनीति पर विचार किया था.

हालांकि अमेरीकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने इस्राइल से संयम बरतने की अपील की थी.

1967: बोस्टन के हत्यारे को मिली उम्र कै़द

Image caption अल्बर्ट डेसाल्वो ने 13 महिलाओं की हत्या की बात स्वीकार की थी.

अल्बर्ट डेसाल्वो नाम के एक हत्यारे को 18 जनवरी 1967 को ही उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई थी.

उस पर अमरीका के कनेक्टीकट में चार महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा, यौन उत्पीड़न और सशस्त्र डकैती करने का आरोप था.

अल्बर्ट डेसाल्वो ने ये स्वीकार किया था कि जून 1962 से लेकर जनवरी 1964 तक उसने बोस्टन इलाक़े में 13 महिलाओं की हत्या की थी.

इन हत्याओं से इलाक़े में दहशत का माहौल पैदा हो गया था.

अल्बर्ट ने जिन महिलाओं को निशाना बनाया था उनकी उम्र 19 से 85 वर्ष तक थी.

अल्बर्ट ने पहले उनका बलात्कार किया था और फिर उनकी हत्या कर दी थी.

संबंधित समाचार