नाइजीरियाई शहर में कई विस्फोट, सात मौतें

नाइजीरिया में विस्फोट
Image caption विस्फोट से कई इमारतें बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुई हैं

उत्तरी नाइजीरिया के सबसे बड़े शहर कानो में एक के बाद एक छह विस्फोट हुए हैं.

शहर में मौजूद बीबीसी के संवाददाता यूसुफ़ याकासाई का कहना है कि विस्फोट के बाद शहर में अफ़रा-तफ़री का माहौल था, लोग इधर-उधर भाग रहे थे और आसमान धुँए से भर गया था.

एक विस्फोट पुलिस मुख्यालय में भी हुआ है जबकि दो अन्य पुलिस स्टेशनों में हुआ है. जबकी एक विस्फोट पासपोर्ट कार्यालय में हुआ है. इसके बाद कई जगह से गोलीबारी की आवाज़ें भी सुनाई पड़ी हैं.

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार इन विस्फोटों में अब तक सात लोगों के मारे जाने और कई अन्य के घायल होने की ख़बरें हैं. मारे गए लोगों में तीन अधिकारी भी शामिल हैं.

पिछले कुछ समय से नाइजीरिया के उत्तरी इलाक़े में हिंसा के लिए दोषी इस्लामिक चरमपंथी संगठन बोको हराम ने विस्फोट की ज़िम्मेदारी ली है.

अफ़रा-तफ़री

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि विस्फोट में शहर के पश्चिमी हिस्से में स्थित पुलिस मुख्यालय को निशाना बनाया गया जबकि शहर के मध्य और दक्षिण में स्थित पुलिस स्टेशनों पर भी विस्फोट हुए हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार पुलिस मुख्यालय की इमारत बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुई है. उसकी खिड़कियों के शीशे टूट गए हैं और एक हिस्से की छत ढह गई है.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि विस्फोट के बाद एक पुलिस स्टेशन पर गोलीबारी भी हुई है.

उनका कहना है कि विस्फोट के बाद पूरे शहर में अफ़रा तफ़री मच गई और लोग इधर उधर भागते दिखे.

एपी के अनुसार एक विस्फोट तो इतना शक्तिशाली था कि कई किलोमीटर दूर तक इसे महसूस किया गया.

मारे गए लोगों में नाइजीरियाई टेलीविज़न का एक पत्रकार भी शामिल है.

एक प्रत्यक्षदर्शी ने एक टीवी चैनल को बताया कि चार विस्फोटों की आवाज़ सुनकर वह बाहर आया और उसने एक युवक का शव देखा फिर वह अप्रवासन कार्यालय की ओर बढ़ गया.

उसने बताया, "अप्रवासन कार्यालय से ही विस्फोट की शुरुआत हुई. वहाँ मैंने तीन शव पड़े हुए देखे...फिर अब तो कई जगह विस्फोट हो गए और गोलीबारी हो चुकी है."

एक और स्थानीय व्यक्ति एंड्रूयू समुअल ने बताया, "मैं सड़क के किनारे चल रहा था जब मैंने धमाके की आवाज़ सुनी. मैंने देखा कि पुलिस मुख्यालय की इमारत धराशाई हो रही है. मैं जान बचाकर भागा."

हिंसा और बोको हराम

इन विस्फोटों की ज़िम्मेदारी बोको हराम ने ली है.

विस्फोट के बाद उत्तर-पूर्वी शहर मैदुगुरी, जहाँ संगठन का मुख्यालय है, एक प्रवक्ता अबुल क़ाक़ा ने पत्रकारों को बताया कि बोको हराम ने ये विस्फोट किए हैं क्योंकि अधिकारी कानो में गिरफ़्तार किए गए संगठन के सदस्यों को रिहा नहीं कर रहे थे.

पिछले कुछ समय में नाइजीरिया के विभिन्न हिस्सों में हुई हिंसा के पीछे बोको हराम का हाथ रहा है.

चरमपंथी संगठन बोको हराम, जिसका अर्थ है 'पश्चिमी शिक्षा प्रतिबंधित है', चाहता है कि नाइजीरिया में इस्लामिक क़ानून शरिया लागू कर दिया जाए.

संगठन ने अपने मुख्यालय मैदुगुरी शहर में वर्ष 2010 से सरकारी ठिकानों पर हमलों का सिलसिला शुरु किया था.

इसके बाद उसने वर्ष 2011 में राजधानी अबूजा में पुलिस मुख्यालय और संयुक्त राष्ट्र के कार्यालयों को निशाना बनाना शुरु किया था.

हाल के हफ़्तों में दक्षिणी हिस्से में रहने वाले लोग जिनमें से ज़्यादातर या तो ईसाई हैं या फिर जीववादी हैं, बोको हराम के प्राणघातक हमलों का निशाना बने हैं.

संबंधित समाचार