सीरिया के होम्स में भीषण गोलाबारी, 15 मरे

होम्स इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सोमवार को अब तक हमलों में 15 लोगों के मारे जाने की ख़बर है

सीरिया के सुरक्षा बलों ने होम्स शहर पर जारी गोलाबारी को और तेज़ कर दिया है.

वहाँ मौजूद बीबीसी संवाददाता के अनुसार सोमवार को हमले दोबारा शुरु हो गए हैं और लगातार धमाके हो रहे हैं.

विरोधियों का कहना है कि 11 महीनों से जारी विद्रोह में शहर पर सबसे तीव्र हमले में एक चिकित्सालय को निशाना बनाया गया है.

इस बीच रूस और चीन ने संयुक्त राष्ट्र में सीरियाई प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ हिंसा के विरोध के प्रस्ताव पर वीटो करने के अपने फैसले को सही ठहराया है. इस कदम से सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद के विरोधी काफी नाराज़ हुए थे.

होम्स में घुसने में सफल होने वाले बीबीसी के पॉल वुड का कहना है कि सीरिया के हमलों के जवाब में विद्रोही स्वचालित हथियार चला रहे हैं लेकिन बड़े हथियारों के सामने इन स्वचालित हथियारों का कोई फायदा नहीं हो रहा है.

उनका कहना है कि इन दावों की पुष्टि करना संभव नहीं है कि सरकारी सुरक्षा बलों ने विद्रोहियों के चिकित्सालय पर निशाना बनाया है.

इस चिकित्सालय में होम्स में पिछले हमलों में घायल हुए कई लोगों का इलाज चल रहा है.

हैलीकॉप्टरों, टैंकों से हमले

एक प्रदर्शनकारी ने बीबीसी को बताया कि सरकार हमलों में हैलीकॉप्टरों और टैंकों का इस्तेमाल भी कर रही है.

सोमवार को अब तक हमलों में 15 लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

संवाददाता का कहना है कि मृतकों का अंतिम संस्कार रात को किया जा रहा है ताकि हमलों में शोक करने वाले निशाना न बनें.

लंडन की एक मानवाधिकार संस्था 'सीरियन ऑबज़रवेटरी फॉर हूमन राइट्स' के अनुसार रविवार को सीरिया में हमलों में कम से कम 28 लोग मारे गए थे, जिनमें से अधिकतर लोग होम्स में मारे गए थे.

पिछले साल दिसंबर में संयुक्त राष्ट्र ने कहा था कि सीरिया में मार्च में शुरु हुए सरकार-विरोधी प्रदर्शनों को दबाने की मुहिम में 5,000 से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

संबंधित समाचार