इतिहास के पन्नों में 13 फ़रवरी

अगर इतिहास के पन्नों को पलटकर देखें तो पाएंगे कि आज के दिन ही अमरीकी लड़ाकू विमानों ने इराक़ पर बमबारी शुरू की थी और स्कॉटलैंड में किसी को जानबूझकर एड्स से संक्रमित करने का मुक़दमा शुरू हुआ था.

1991: बग़दाद पर बमबारी

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption बग़दाद पर हुई बमबारी में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी.

अमरीकी लड़ाकू विमानों के बग़दाद पर बमबारी में सैकड़ों आम नागरिकों की मौत हो गई थी और लोग बड़ी संख्या में घायल हुए थे.

इराक़ के विदेश मंत्री तारिक़ अज़ीज़ ने कहा, "ये आपराधिक कृत है, और पहले से तैयार योजनाओं के आधार पर नागरिकों पर किया गया हमला है."

ख़बर है कि लेज़र की मदद से चलाए जाने वाले दो बमों ने अमीरिया इलाक़े में बमबारी से बचाव के लिए तैयार एक विशेष बंकर पर हमला किया.

हमलों के 12 बाद के घंटों में वहां से 253 शवों को निकाला गया था.

कहा जा रहा था कि 300 लोग अभी भी उसके भीतर फंसे थे. उनमें से ज़्यादातर बच्चे और औरतें थीं.

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता मार्टिन फ़िट्ज़वाटर ने नागरिकों की मौत को 'दुखद' बताया लेकिन साथ ही कहा कि इसका इस्तेमाल सैन्य कार्यों के लिए किया जा रहा था.

उन्होंने कहा, "हमें नहीं मालूम की नागरिक वहां क्या कर रहे थे. हम जानते हैं कि सद्दाम हुसैन मानव जीवन की क़द्र नहीं करते हैं."

गुप्तचर विभाग में काम करने वाले एक अमरीकी अधिकारी ने कहा कि हमला होने तक वहां से मिलिट्री सिग्नल भेजे जा रहे थे.

सऊदी अरब में मौजूद एक अमरीकी अधिकारी ने कहा कि उस जगह पर नागरिकों को जानबुझकर रखा गया था.

लेकिन बग़दाद में बंकर के मैनेजर का दावा था कि वहां सेना का एक भी व्यक्ति मौजूद नहीं था.

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता ने इतनी बड़ी संख्या में नागरिकों के हताहत होने पर दुख व्यक्त किया है.

2001: स्कॉटलैंड में एड्स का मुक़दमा शुरू

Image caption एड्स को लेकर ये अपनी तरह का पहला मुक़दमा था.

ग्लासगो में एक ऐसे व्यक्ति के ख़िलाफ़ मुक़दमा शुरू हुआ था जिसपर आरोप था कि उन्होंने जानबुझकर एक महिला को एचआईवी वॉयरस से संक्रमित किया था.

तेंतीस साल के स्टेफ़न केली पर आरोप तय हुआ था कि उसने अपनी पूर्व गर्ल फ्रेंड के साथ बिना किसी सावधानी के यौन संबंध बनाया था जबकि उन्हें पता था कि वो एचआईवी से संक्रमित हैं.

केली को ये संक्रमण जेल में हुआ था जब उन्होंने क़ैदी साथियों के इस्तेमाल की गई सुई का प्रयोग किया था.

एनी क्रेग से उनकी मुलाक़ात जेल से बाहर आने के बाद हुई लेकिन उन्होंने क्रेग को अपनी स्थिति के बारे में तीन महीने तक नहीं बताया.

बाद में जब महिला की तबियत ख़राब रहने लगी तो उन्होंने उसे सच्चाई से अवगत कराया.

महिला ने पुलिस से इसकी शिकायत की जिसके बाद पूरा मामला सामने आया.

संबंधित समाचार