सीरिया की सरकार 'कैंसर': ज़वाहिरी

ज़वाहिरी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption संदेश में ज़वाहिरी ने दूसरे चरमपंथियों को सीरिया में विद्रोहियों की मदद करने के लिए कहा है

चरमपंथी सगंठन अल-क़ायदा के प्रमुख अयमन अल-ज़वाहिरी ने सीरिया में सरकार-विरोधी विद्रोहयों से कहा है कि वो अरब लीग और पश्चिमी देशों के समर्थन पर निर्भर नहीं रहे.

एक वीडियो में अल-ज़वाहिरी ने कहा कि सीरिया की मौजूदा सरकार कैंसर की तरह है जो मुसलमानों पर अत्याचार कर रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि इस सत्ता से छुटकारा पाने के लिए जो भी कर सकते हैं लोग करें.

ज़वाहरी ने इस क्षेत्र के देशों के चरमपंथियों से आग्रह किया है कि वो सीरिया में आएं और विद्रोहियों के साथ लड़ें.

एक वीडियो संदेश में अल-ज़वाहिरी ने सीरिया में मौजूदा विपक्ष से कहा है कि वो पश्चिमी देशों या अरब लीग से समर्थन का भरोसा न करे.

आठ मिनट लंबे इस वीडियो संदेश का शीर्षक "आगे बढ़ो, सीरिया के शेरों" था और इसे एक इस्लामी वेबसाइट पर डाला गया था.

मौजूदा सरकार "कैंसर"

वीडियो में ज़वाहिरी ने कहा, "सीरिया में हमारे लोगों, आप पश्चिमी देशों, अरब लीग या तुर्की पर भरोसा न रखें. अगर हमें आज़ादी चाहिए तो मौजूदा सत्ता से मुक्ति पानी होगी. अगर हमें इंसाफ़ चाहिए तो इस सरकार का मुक़ाबला करना होगा."

साथ ही उन्होंने इराक़, जॉर्डन, लेबनान और तुर्की के चरमपंथियों से कहा कि वो सीरिया में अपने भाइयों की मदद के लिए आगे आएं.

ऐसी रिपोर्ट भी आई है कि कुछ अमरीकी अधिकारी मानते हैं कि सीरिया में हाल ही में हुए कुछ बम हमले अल-क़ायदा ने करवाए थे. दमिश्क और एलेप्पो में कार बम हमलों में अल क़ायदा का हाथ माना जा रहा है.

सीरिया में चल रहे विद्गोह से जुड़े कार्यकर्ताओं ने हिंसा का विरोध किया है और कहा है कि ये सरकार ख़ुद करवा रही है.

संबंधित समाचार