तार से जाएंगे नियाग्रा के आर-पार

  • 16 फरवरी 2012
निक वालेंडा इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption निक वालेंडा सौ साल बाद ऐसा करने वाले पहले व्यक्ति होंगे.

इन गर्मियों में निक वालेंडा नियाग्रा फ़ॉल्स के आर-पार सिर्फ़ एक तार पर चल कर जाएंगे.

तारों पर कलाबाज़ियां करने के माहिर निक वालेंडा को कनाडा के अधिकारियों ने इसकी इजाजत दे दी है. लेकिन अधिकारियों ने ये साफ़ किया है कि ये अनुमति सिर्फ़ एक ही बार के लिए दी गई है और उसे प्रतिदिन का कार्यक्रम हरगिज़ नहीं बनाया जाएगा.

निक वालेंडा ने कई बार ये कलाबाज़ी करने की अर्जी दी लेकिन उन्हें अब तक कामयाबी नहीं मिली थी. अब स्थानीय अधिकारियों ने उन्हें ये स्टंट करने के लिए हरी झंडी दे दी है.

निक वालेंडा अब कनाडा और अमरीका को जोड़ने वाले मशहूर जल प्रपात नियाग्रा फॉल्स के आर-पार एक तार पर चल कर जाएंगे.

बत्तीस वर्षीय निक वालेंडा सर्कस में काम करने वाले ख़ानदान की सातवीं पीढ़ी से हैं.

अनुमति मिलने के बाद निक वालेंडा ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया, "ये छह साल की उम्र से मेरा एक सपना था. कई लोगों ने मुझे बताया है कि इस सपने का साकार होना असंभव है. मैं तो सिर्फ़ इतना ही कह सकता हूं कि मैं बेहद ख़ुश हूं. "

कमाई से उम्मीद से बनी बात

निक वालेंडा को नियाग्रा फॉल्स पार्क्स कमीशन से मिली इजाजत के पीछे, उनके करतब से होने वाली कमाई की अहम भूमिका रही है. ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि पार्क्स कमीशन को इस आयोजन से 12 करोड़ डॉलर तक की कमाई हो सकती है.

ये कमाई पर्यटकों के अलावा टीवी प्रसारण के अधिकारों से बिक्री से हो सकती है.

नियाग्रा फॉल्स पार्क्स कमीशन के अध्यक्षा जेनीस थॉमसन ने एक बयान में कहा, "इस अनुमति को देने के पीछे एक वजह ये भी थी कि इससे नियाग्रा फॉल्स की लोकप्रियता बढ़ेगी. साथ ही हमने ये साफ कर दिया है कि ये सिर्फ़ एक बार के लिए है. ये हर रोज़ नहीं हो सकता. और ऐसा होने भी नहीं दिया जाएगा."

नियाग्रा फॉल्स पर ऐसे करतब की अनुमति एक सदी से नहीं मिली क्योंकि इससे पहले की कोशिशें घातक साबित हुई हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए