अफगानिस्तान में कुरान 'जलाने' पर प्रदर्शन

बगराम के बाहर प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption माना जा रहा है कि करीब दो हजार लोगों ने प्रदर्शनों में हिस्सा लिया

मुसलमानों की पवित्र किताब कुरान को कथित तौर पर जलाए जाने के मामले में अफगानिस्तान में करीब दो हजार लोगों ने बगराम एअरबेस के बाहर प्रदर्शन किए हैं.

प्रदर्शनों के बाद एक अमरीकी कमांडर ने माफ़ी मांगी है.

अफगानिस्तान में अमरीकी कमांडर जनरल जॉन एलेन ने कहा कि इस्लाम से जुड़ी कुछ धार्मिक सामग्री से, परिस्थितयों को बिना समझाए, अनुचित तरीके से छुटकारा पाए जाने की जाँच की जा रही है, लेकिन उन्होंने अफगान जनता को भरोसा दिलाया कि ये काम जानबूझकर नहीं किया गया.

बागराम एअरबेस में कई हजार विदेशी सैनिक रहते हैं.

उसी जगह पर मौजूद एक बीबीसी संवाददाता ने कहा कि प्रदर्शन के दौरान उसने कई लोगों को रोते हुए भी देखा.

कुछ लोग बेस की रक्षा कर रहे सैनिकों पर पत्थर और आग के गोले फेंक रहे थे.

कुरान को जलाने या उसके साथ दुर्व्यवहार की घटनाओं पर पहले भी प्रदर्शन हुए हैं.

कभी कभी तालिबान और दूसरे गुटों पर संदेह व्यक्त किया जाता है कि वो इस तरह की अफवाहें फैलाते हैं.

पिछले वर्ष एक अमेरिकी पादरी के फ्लोरिडा में कुरान जलाए जाने को लेकर हुए प्रदर्शन में 10 संयुक्त राष्ट्र कार्यकर्ता मारे गए थे और कई लोग घायल हो गए थे.

संबंधित समाचार