ओसामा का ऐबटाबाद प्रागंण 'ढहाया जा रहा है'

  • 26 फरवरी 2012
ऐबटाबाद प्रांगण इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption ओसामा बिन लादेन ने जीवन के पांच अंतिम साल इसी घर में गुज़ारे थे.

पाकिस्तान से आ रही ख़बरों के मुताबिक़ प्रशासन ने ऐबटाबाद स्थित ओसामा बिन लादने के प्रांगण को ढहाने का काम शुरू कर दिया है.

अल-क़ायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन की मौत पिछले साल मई में ऐबटाबाद के इसी मकान में अमरीकी फ़ौज के एक हमले के दौरान हो गई थी.

शहरियों का कहना है कि सुरक्षाबलों ने प्रांगण की तरफ़ जानेवाले रास्ते की नाकाबंदी कर दी है और बाहरी दीवार को ढहाने के लिए बुलडोज़रों का इस्तेमाल किया जा रहा है.

टिपण्णी

हालांकि पाकिस्तानी अधिकारियों ने इस मामले पर किसी तरह की टिपण्णी करने से मना कर दिया है.

लाहौर के नज़दीक मौजूद पाकिस्तान की सैनिक छावनी वाले शहर ऐबटाबाद के इसी घर में ओसामा बिन लादेन ने पांच साल बिताए थे.

इस्लामाबाद से बीबसी संवाददाता इलियास ख़ान ने नागरिकों के हवाले से कहा है कि इलाक़े में कर्फ़्यू जैसे हालात हैं और लोगों को घर से बाहर निकलने की मनाही है.

आवाज़े

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ओसामा की मौत के बाद पाकिस्तान में व्यापक प्रदर्शन हुए थे.

लेकिन कई लोगों ने प्रांगण से बुलडोज़रों और खुदाई किए जाने की आवाज़े सुनी हैं.

ढहाने का काम शाम में शुरू हुआ था और उसकी आवाज़े देर रात तक जारी रहीं.

ओसामा बिन लादेन जिस घर में रह रहे थे उसके चारों तरफ़ ख़ाली जगह के बाद उसे ऊंची-ऊंची दीवारों से घर दिया गया था.

विरोध

ओसामा बिन लादेन के ख़िलाफ़ की गई एकतरफ़ा अमरीकी कार्रवाई के बाद अमरीका और पाकिस्तान के संबंधों में भारी तनाव आया जो अभी तक जारी है.

इस कार्रवाई के कारण पाकिस्तान को भारी शर्मिंदगी का भी सामना करना पड़ा था क्योंकि उसके ऊपर एक ऐसे व्यक्ति को पनाह देने की बात सामने आ गई थी जिसकी तलाश पूरी दुनियां को थी.

अमरीकी कार्रवाई को पाकिस्तान ने अपनी संप्रभुता में दख़लअंदाज़ी क़रार दिया था और पूरे पाकिस्तान में अमरीका विरोधी प्रदर्शन भी हुए थे.

संबंधित समाचार