'अपना कूड़ा वापस ले ब्रिटेन'

Image caption इंडोनेशिया ने ब्रिटेन से ज़हरीले कूड़े के डब्बों को वापस लेने को कहा है

इंडोनेशिया ने ब्रिटेन से कहा है कि वो उन ज़हरीले कूड़े के डब्बों को वापस लें जो जनवरी में इंडेनेशिया के बंदरगाह पर पहुंचे थे.

इंडोनेशिया को लगता है कि जनवरी में जकार्ता के मुख्य बंदरगाह तान्जुंग प्रियोक पर पहुंचे ज़हरीले धातु, प्लास्टिक और इलैक्ट्रोनिक कूड़े से भरे डब्बे ब्रिटेन से आए थे.

इंडेनेशियाई अधिकारियों के मुताबिक उन डब्बों से मिले कुछ दस्तावेज़ों से संकेत मिलता है कि वो निदरलैंड और ब्रिटेन के हैं.

पर्यावरण मंत्रालय के एक अधिकारी सुदरयोनो ने बीबीसी की इंडोनेशिया सेवा को बताया कि ये डब्बे ज़हरीले कूड़े से भरे थे.

उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया ने ब्रिटेन से कहा है कि वो अपना कूड़ा वापस ले.

‘कूड़ेदान’

उन्होंने कहा कि पर्यावरण मंत्रालय ब्रिटेन के अधिकारियों के संपर्क में है और इस बाबत दोनों देशों के बीच बातचीत जारी है.

जकार्ता में ब्रितानी दूतावास ने इस बात की पुष्टि की है कि वे इंडोनेशियाई अधिकारियों के संपर्क में हैं, लेकिन उन्होंने ज़्यादा जानकारी देने से इंकार कर दिया.

दूसरे विकासशील देशों की तरह इंडोनेशिया भी विकसित देशों के लिए ‘कूड़ेदान’ बन गया है और इससे निपटना उसके लिए एक बड़ी चुनौती साबित हो रहा है.

अधिकारियों का कहना है कि उन्हें तान्जुंग बंदरगाह पर और भी ज़हरीले कूड़े से भरे बक्से मिले हैं, लेकिन ये अब तक नहीं पता चल पाया है कि वो आए कहां से.

अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं और दोषी पाए जाने वालों को 15 साल तक की सज़ा हो सकती है.

संबंधित समाचार