विकृत है समलैंगिक विवाह योजना:चर्च

  • 5 मार्च 2012
कार्डिनल ओ ब्राइन इमेज कॉपीरइट PA
Image caption कार्डिनल ओ ब्रायन का कहना है कि समलैंगिक शादी विकृत योजना है

समलैंगिक जोड़ियों को शादी करने की अनुमति देने की ब्रितानी सरकार की योजना का रोमन कैथौलिक चर्च के सबसे वरिष्ठ कार्डिनल ने विरोध किया है.

स्कॉटलैंड की कैथौलिक चर्च के प्रमुख कार्डिनल कीथ ओ' ब्रायन ने कहा है कि समलैंगिक शादी की योजना, "सभी को मान्य मानवाधिकारों को दबाने की एक विकृत योजना है."

उनका कहना है कि शादियों को दोबारा से परिभाषित करने की ये योजना जिसका डेविड कैमरन समर्थन करते हैं, "ब्रिटेन को दुनिया कि नजरों में शर्मसार कर देगा."

उनका कहना है कि जानबूझ कर किसी बच्चे को मां या बाप से वंचित रखना गलत होगा.

'संडे टेलिग्राफ' अखबार में कार्डिनल ब्रायन ने लिखा, "समलैंगिक शादी उस मूलभूत विचार को बिल्कुल खत्म कर देगा कि हर बच्चे को मां और बाप दोनों चाहिए. ये एक ऐसी समाज का निर्माण करेगा जो जानबूझ कर किसी बच्चे को मां या बाप में किसी एक से वंचित रखना चाहेगा."

पागलपन

इस तरह कार्डिनल ब्रायन भी वरिष्ठ पादरियों की उस सुची में जुड़ गए हैं जो सरकार के समलैंगिक शादी के प्रस्ताव को "पागलपन" कहकर उसका विरोध कर रहे हैं.

उधर सरकार के प्रस्ताव का स्कॉटलैंड के लिए सरकारी मंत्री माइकल मूर ने बचाव किया है.

माइकल मूर ने कहा, "हम धार्मिक शादी में बदलाव नहीं ला रहे हैं और न ही हम इसे धार्मिक संगठनों पर लादने की कोशिश कर रहे हैं. हम सिर्फ ये कहना चाह रहे हैं कि अगर कोई जो़ड़ा एक दूसरे को पसंद करता है और अपनी जिदगी एक दूसरे के साथ गुजारना चाहता है तो उन्हें शादी करने का अधिकार होना चाहिए, चाहे सेक्स के प्रति उनकी पसंद कैसी भी हो. हां, इस पर लंभी और गहरी बहस होगी, लेकिन मुझे लगता है ये जरूरी है."

मंत्रणा

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption ब्रिटेन के कई चर्च समलैंगिक शादी का विरोध कर रहे हैं

वहीं सरकार में समानत अधिकारों को लागू करवाने की देखरेख करने वाली मंत्री लिएन फेदरस्टोन अगले महीने इस मामले पर बातचीत और मंत्रणा की शुरुआत करेगी कि किस तरह समलैंगिक जोड़ियों को शादी करने के अवसर प्रदान किए जाए.

उन्होंने कहा कि वो इस बात को चुनौती देना चाहती है कि सरकार को शादियों की परंपरा बदलने का कोई अधिकार नहीं है.

उन्होंने कहा, "सरकार की ये मौलिक जिम्मेदारी है कि वो समाज के यथार्थ को जताए और भविष्य का निर्माण करे. सरकार को वहां चुप नहीं रहना चाहिए जहां उसे काम करने का अधिकार है और वो चीजों को बेहतरी की तरफ़ ले जा सकती है."

स्कॉटलैंड की सरकार ने उत्तरी सीमा पर लोगों से इस विषय पर राय मांगी है और उसे 50,000 से ज्यादा जबाव मिले हैं.

चर्च के कई प्रमुखों का मानना है कि समलैंगिक शादी समाज में धार्मिक मुल्यों को कम करने की दिशा में एक बड़ा कदम होगा.

संबंधित समाचार