12 प्रधानमंत्री, साढ़े तीन हज़ार क़ानून

रानी एलिज़ाबेथ इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption रानी विक्टोरिया का कार्यकाल रानी एलिज़ाबेथ के कार्यकाल से अधिक था

ब्रिटेन की महारानी एलिज़ाबेथ ने सत्ता संभालने के साठ वर्ष पूरा होने के अवसर पर ब्रितानी संसद के दोनों सदनों को संबोधित किया है.

इस अवसर पर देश में कई कार्यक्रम हो रहे हैं.

उनके इस कार्यकाल में 12 प्रधानमंत्री हुए हैं और उन्होंने साढ़े तीन हज़ार विधेयकों पर हस्ताक्षर कर उन्हें क़ानून का रूप दिया है.

इससे पहले सिर्फ़ रानी विक्टोरिया का कार्यकाल इससे लंबा रहा है.

संबोधन

रानी एलिज़ाबेथ के सत्ता संभालने के साठ वर्ष पूरे होने पर हीरक जयंती यानी डायमंड जुबली मनाई जा रही है.

वेस्टमिंस्टर हॉल में इस अवसर पर वर्तमान सांसदों के अलावा कई पूर्व सांसद और राष्ट्रमंडल देशों से आए विशिष्ट अतिथि मौजूद थे.

अपने भाषण में उन्होंने राष्ट्रमंडल के प्रति अपने विशेष अनुराग की बात कही, जिसके तहत दुनिया की एक तिहाई आबादी आती है.

उन्होंने कहा कि वे उम्मीद करती हैं कि गोल्डन जुबली के आयोजन लोगों को एक स्थान पर एकत्रित होने का अवसर प्रदान करेगा.

उन्होंने ब्रितानी संसद से अपने लंबे और खुशी से भरे संबंधों का भी ज़िक्र किया.

ब्रितानी संसद के उच्च सदन हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की स्पीकर डी सूज़ा ने उनके लंबे कार्यकाल और उसके स्थायित्व की सहारना की.

बीबीसी के राजनीतिक मामलों के संवाददाता रॉव वाटसन के अनुसार जब ये ज़िक्र किया गया कि रानी के कार्यकाल में 12 प्रधानमंत्री हो चुके हैं और उन्होंने साढ़े तीन हज़ार विधेयकों पर हस्ताक्षर कर उन्हें क़ानून का रुप दिया है तो वे मुस्कुरा रही थीं.

ये तीसरी बार था जब ऐसा शाही संबोधन हुआ. इससे पहले रानी एलिज़ाबेथ ने अपने सत्ता संभालने के 25वीं और 50वीं वर्षगाँठ पर संबोधन दिया था.

संबंधित समाचार