ब्राज़ील पुलिस को 'सुनहरे बाल गिरोह' की तलाश

ब्राज़ील सुनहरा बाल गिरोह इमेज कॉपीरइट dhpp
Image caption गिरोह की सदस्य मध्यम वर्ग से ताल्लुक रखने वाली शिक्षित महिलाएं हैं.

ब्राज़ील में पुलिस का कहना है कि वो एक ऐसे गैंग की तलाश कर रही है जिसकी अधिकांशतर सदस्य सुनहरे बालों वाली महिलाएं हैं जिन्होंने साऊं पावलोह में अपहरण और लूटपाट की कई वारदातों को अंजाम दिया है.

साऊं पावलोह के अपहरण-निरोधक पुलिस दस्ते का कहना है कि अपराधी शापिंग केंद्रों में गई अमीर महिलाओं को निशाना बनाती हैं.

पुलिस का कहना है कि अपराधी शापिंग सेंटर से कार पार्किंग की तरफ जा रही महिलाओं का पीछा करती हैं, उनके पास जो कुछ भी होता है उसे लूट लिया जाता है, फिर उन्हें बंदूक दिखाकर उनसे क्रेडिट कार्ड छीन लिए जाते हैं, कुछ लोग शिकार को वहीं रोके रखते हैं जबकि गैंग की दूसरी सदस्य भीतर जाकर क्रेडिट कार्ड से कीमती वस्तुओं की खरीदारी करती हैं.

शिक्षित

पुलिस का कहना है कि 'सुनहरे बालो वाले गैंग' की अधिकांश सदस्य मध्यम वर्ग से तालुक्क रखने वाली पढ़ी-लिखी युवा महिलाएं हैं.

साऊं पावलोह के अपहरण-निरोधक शाखा के प्रमुख जूएकी एल्विस ने बीबीसी मुंडो से कहा, "उनमें से एक या दो, एक से अधिक भाषा जानती है, और कुछ ने विदेशों में शिक्षा हासिल की है."

उन्होंने कहा, "वे सब सुंदर युवतियां हैं, बढ़िया पोशाक पहनती हैं और मेक-अप करती हैं."

गैंग वैसी महिलाओं को निशाना बनाता है जो देखने में उन जैसी लगती हैं ताकि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते समय वो 'रोकी गई' महिला जैसी ही दिखें.

'एक्सप्रेस किडनैपिंग'

सुनहरे बाल वाला गैंग पिछले लगभग तीन सालों से वारदातों को अंजाम दे रहा है और कम से कम 50 लोगों को लूट चुका है.

पुलिस का कहना है कि उन्होंने तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए लोगों में एक पुरूष भी है.

इस तरह की वारदातों को 'एक्सप्रेस किडनैपिंग (अपहरण)' के नाम से जाना जाता है जिसमें किसी व्यक्ति को कुछ घंटों के लिए बंधक बना लिया जाता है जिस दौरान उसके बैंक अकाउंट और क्रेडिट कार्ड का खुलकर प्रयोग किया जाता है.

इस तरह की वारदातें इस क्षेत्र में आम हैं.

संबंधित समाचार