पाकिस्तान यात्रा तभी जब ठोस कारण हो: मनमोहन

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मनमोहन सिंह के मुताबिक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने उन्हें बताया कि भारत के साथ व्यापार पर लिया गया फ़ैसला आसान नहीं था

भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि वो पाकिस्तान तभी जाएँगे अगर “कोई ठोस” कारण हो.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक सिओल में जारी परमाणु सम्मेलन के दौरान मनमोहन सिंह की मुलाकात पाकिस्तान के प्रधानमंत्री युसुफ रजा गिलानी से हुई.

भारतीय प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के उस कदम का स्वागत किया जिसमें उसने भारत के साथ व्यापार पर लगे अवरोधों को कम किया है..

अपने विशेष विमान पर पत्रकारों से बात करते हुए मनमोहन सिंह ने कहा, “मेरी उनसे अच्छी मुलाकात रही. मैने भारत के साथ व्यापार पर लगे अवरोधों को हटाने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया.”

प्रधानमंत्री सिंह दक्षिण कोरिया से वापस भारत लौट रहे थे.

जब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने मनमोहन सिंह से पूछा कि वो आधिकारिक दौरे पर पाकिस्तान कब आ रहे हैं, इस पर मनमोहन सिंह ने कहा, “मैने कहा कि आइए कुछ ठोस करें ताकि हम उसकी खुशी मना पाएँ.”

पाकिस्तान ने हाल में ही घोषणा की थीं कि भारत के साथ व्यापार के लिए उन सामानों की एक छोटी सूची बनाई जाएगी जिनका व्यापार नहीं हो सकता है.

मनमोहन सिंह के मुताबिक गिलानी ने उनसे पूछा कि क्या भारत को पंजाब के रास्ते पाकिस्तान को बिजली की आपूर्ति कर सकता है या नहीं. इस पर मनमोहन सिंह ने उन्हें आश्वासन दिया कि वो इस मामले पर ज्यादा जानकारी लेंगे.

इस मुलाकात में मनमोहन सिंह के साथ विदेश सचिव रंजन मथाई और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन भी मौजूद थे.

मनमोहन सिंह के मुताबिक गिलानी ने उन्हें बताया कि भारत के साथ व्यापार पर लिया गया फ़ैसला आसान नहीं था.

गिलानी ने कहा कि फै़सले को लेकर मतभेद थे लेकिन उनकी सरकार ने इस मसले पर आगे बढ़ने का फैसला किया.

उधर मीडिया से बात करते हुए पाकिस्तान की विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने कहा कि दोनो देश साथ काम करने को तैयार हैं ताकि रिश्तों में सुधार हो.

संबंधित समाचार