सभी भारतीय सुरक्षित: भारतीय दूतावास

काबुल हमले इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption काबुल पर पहले भी कई आत्मघाती हमले हुए हैं.

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में रविवार दोपहर योजनाबद्ध तरीके से कई अहम दूतावासों और दूसरी जगहों पर चरमपंथी हमले किए गए जो अब भी जारी है.

तालिबान ने एक बयान जारी कर इन हमलों की जिम्मेदारी कबूल की है. तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा है कि इसी तरह के हमले देश के दूसरे कई शहरों में भी किए गए हैं.

काबुल के विभिन्न हिस्सों में कम से कम सात बम धमाकें हुए हैं. साथ ही विदेशी दूतावासों को निशाना बनाकर गोलीबारी भी की गई है.

हालांकि अभी तक किसी के हताहत या घायल होने की खबर सामने नहीं आई है.

अफगानिस्तानी सुरक्षाबलों के जवान स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए मोर्चे पर है. लड़ाई अभी भी जारी है.

काबुल में स्थित भारतीय दूतावास में द्वितीय सचिव के पद पर कार्यरत मुकुल आर्या ने बीबीसी को फोन पर बताया कि हमले में भारतीय दूतावास के किसी भी कर्मचारी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

सुनिए काबुल में मौजूद मुकुल आर्या से बीबीसी संवाददाता अमरेश द्विवेदी की बातचीत.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

मकुल आर्या, काबुल में भारतीय दूतावास के अधिकारी:

"हमें जो जानकारी अफगानिस्तान की सरकार से मिली है उसके मुताबिक काबुल में क्रमबद्ध तरीके से तीन आत्मघाती हमले हुए है.

एक हमला संसद में हुआ है और बाकी दो हमले अलग-अलग इलाकों में हुए है.

हम बीबीसी के माध्यम से ये कहना चाहते है कि हमले में किसी भारतीय या दूतावास के कर्मचारी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. सभी लोग पूरी तरह से सुरक्षित है और हमले यहां से दूर हुए हैं.

यहां पर जो सुरक्षा प्रक्रिया होती है उसे शुरू किया जा चुका है. अफगानिस्तान के सुरक्षाकर्मियों ने घटनास्थलों पर आवाजाही रोक दी है और सुरक्षा व्यवस्था पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है."

संबंधित समाचार