डेविड हेडली की पूर्व पत्नी के चौंकाने वाले बयान

  • 17 अप्रैल 2012
हेविड हेडली इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हेविड हेडली को वर्ष 2009 में गिरफ़्तार किया गया था.

2008 में हुए मुंबई हमलों के मामले में अभियुक्त डेविड हेडली की पूर्व पत्नी ने कहा है कि उन्होंने भरपूर कोशिश की थी कि इन हमलों को अंजाम देने से रोका जा सके.

अमरीका के शिकागो शहर के एबीसी लोकल टेलीविज़न चैनल को दिए गए एक साक्षात्कार में उन्होंने मुंबई हमलों से जुडी़ कई बातें बताई हैं.

हालांकि हेडली की पूर्व पत्नी फायिजा उताल्हा ने मोरक्को में दिए गए इस इंटरव्यू के दौरान अपने चेहरे पर नकाब पहन रखा था और इसकी वजह उन्होंने अपनी जान को ख़तरा बताई है.

मुंबई हमलों के बारे में फायिजा उताल्हा ने कहा, "मैं विदेश में अमरीकी अधिकारियों के पास गई और उन्हें बताना शुरू किया कि यह व्यक्ति (डेविड हेडली) एक मुजरिम है और सब जगह बम धमाके करना चाहता है. लेकिन उन्होंने परवाह ही नहीं की."

'शादी के लिए धोखा दिया'

फायिजा उताल्हा ने इस बात पर भी जोर दिया है कि उनकी पहचान उजागर होने पर उन्हें खतरा हो सकता है.

उन्होंने कहा, "मैं अपना चेहरा ढके हुए हूँ क्योंकि मुझे डर है कि लोग मेरे चेहरे को देख लेंगे और फिर मेरे पीछा करके मुझे नुकसान पहुंचाने की कोशिश करेंगे."

डेविड हेडली की पूर्व पत्नी ने उन पर धोखा देने का भी इल्जाम लगाया है.

फायिजा ने कहा, "मुझे उनसे पहली नजर में प्यार हो गया था और फिर जल्द ही हमने शादी भी कर ली. लेकिन हेडली ने लगातार मुझसे झूठ बोला और शादी करने के लिए धोखाधड़ी का सहारा लिया."

समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक भारतीय अधिकारियों ने मोरक्को की सरकार से आधिकारिक तौर पर फायिजा उताल्हा को भारत सौंपे जाने की सिफारिश की है जिससे मुंबई पर हुए हमलों की छानबीन में मदद मिल सके.

इससे पहले डेविड हेडली अमरीका की एक अदालत में इस बात को स्वीकार कर चुके हैं कि एक समय में वह लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करते थे और उनके सबसे अहम आदमी थे.

भारतीय जाँच अधिकारी भी अमरीका जाकर डेविड हेडली से पूछताछ कर चुके हैं.

संबंधित समाचार