श्रीलंकाई के दांबुला में बौद्ध-मुस्लिम तनाव

श्रीलंका में मुसलमान इमेज कॉपीरइट AP
Image caption श्रीलंका में मुसलमान अल्पसंख्यक हैं

श्रीलंका में दांबुला शहर की एक मस्जिद में जुमे की नमाज नहीं होने दी गई. बौद्ध और मुस्लिम समुदायों के बीच तनाव के कारण ऐसा हुआ.

लगभग 2,000 बौद्धों ने मस्जिद के सामने प्रदर्शन किया. वे उसे गिराने की मांग कर रहे थे. प्रदर्शनकारियों में बौद्ध भिक्षु भी शामिल थे.

बीबीसी से बातचीत में मस्जिद के एक अधिकारी ने बताया कि वो और उनके दर्जनों साथी मस्जिद के अंदर फंसे हुए थे और उन्हें डर था कि भीड़ मस्जिद की इमारत को गिरा देगी.

गुरुवार रात इस मस्जिद पर बम फेंका गया लेकिन इस घटना में किसी को चोट नहीं आई.

कोलंबो में बीबीसी संवाददाता चार्ल्स हैवीलैंड का कहना है कि यह तनाव आसपास के इलाकों में भी फैल रहा है.

विरोध प्रदर्शनों के तुंरत बाद मस्जिद को खाली करा लिया गया और जुमे की नमाज को रद्द कर दिया गया.

मस्जिद के एक सदस्य ने बताया कि इस तनाव की शुरुआत पिछले महीने उस वक्त हुई जब मस्जिद में सामान्य से ज्यादा संख्या में लोग जुटे.

हमारे संवाददाता के मुताबिक बहुत से बौद्ध दांबुला को पवित्र शहर मानते हैं और हाल के महीनों में श्रीलंका के दूसरे हिस्सों में भी सांप्रदायिक तनाव बढ़ा है.

पिछले साल सितंबर में एक बौद्ध भिक्षु के नेतृत्व में कुछ लोगों ने अनुराधापुरा में एक मुस्लिम दरगाह को गिरा दिया. यह शहर दांबुला से ज्यादा दूर नहीं है.

श्रीलंका में बौद्धों की आबादी सबसे ज्यादा है.

संबंधित समाचार