लंदन में 'बम के खतरे' के बाद गिरफ्तारी

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सामान फेंके जाने की खबर मिलने के बाद पुलिस पहुँची और उसने इलाके को घेर लिया

लंदन में एक अतिव्यस्त इलाक़े टोटेन्हम कोर्ट रोड में एक दफ्तर में बम होने की ख़बरें आने के बाद इस इलाक़े को बंद कर दिया गया और एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया गया है.

शुक्रवार दोपहर वहाँ एक दफ्तर की पाँचवीं मंजिल से कंप्यूटर और कुछ फर्नीचर के फेंके जाने के बाद पुलिस को बुलाया गया जिसने इस रोड के एक हिस्से को बंद कर दिया और इमारत की तलाशी ली.

कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने दावा किया कि इमारत में लोगों को बंधक बनाया गया है, मगर पुलिस ने इससे इनकार किया है.

पुलिस ने 49 वर्ष के एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है और कहा है कि जब उन्होंने उसे पकड़ा तो दफ्तर में कोई बंधक नहीं था.

चश्मदीदों ने बताया है कि उन्होंने पुलिस को "बिना कमीज के सैनिक पतलून पहने" हुए एक आदमी को ले जाते देखा है.

मेट्रोपोलिटन पुलिस का कहना है कि पुलिसकर्मी अभी इस इमारत और आस-पास के इलाके की की तलाशी कर रहे हैं और वे वहाँ तबतक रहेंगे जबतक कि वहाँ की सुरक्षा को लेकर वे आश्वस्त नहीं हो जाते.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि उन्हें आशंका थी कि उस व्यक्ति के पास विस्फोटक या ज्वलनशील तरल पदार्थ हो सकते हैं.

इससे पहले बीबीसी ने स्थानीय नगरपालिका - कैमडन काउंसिल - की तरफ से भेजे गए एक ईमेल को देखा जिसमें इस इस घटना को 'बंधक स्थिति' जैसा बताया गया था.

ईमेल में कहा गया था, “संदिग्ध ने बंधकों से कहा कि वे खिड़की से कंप्यूटरों को फेंके.”

इमारत के दूसरी ओर रहनेवाले एक व्यक्ति ने बीबीसी से कहा,"बाहर सामान फेंकते लोग चिल्ला रहे थे - हमें जबरदस्ती सामान फेंकने के लिए कहा जा रहा है.'".

घटना के बाद इलाके के तीन मेट्रो स्टेशनों को एहतियात के तौर पर बंद कर दिया गया.