वॉल स्ट्रीट पर प्रदर्शन

  • 1 मई 2012
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption वॉल स्ट्रीट पर कब्जा करो अभियान के तहत न्यू यॉर्क में प्रदर्शन हो रहे हैं

अमरीका के न्यू यॉर्क शहर में आर्थिक जगत के गढ़ वॉल स्ट्रीट पर के पास 'वॉल स्ट्रीट पर कब्जा करो' नामक मुहिम के तहत एक बार फिर बड़े पैमाने पर प्रदर्शन आयोजित किए जा रहे हैं.

न्यू यॉर्क समेत अमरीका के कई शहरों जैसे लॉस एंजलस, सैन फ़्रांसिस्को, शिकागो, सिएटल, वाशिंगटन आदि में मंगलवार को मई दिवस के मौके पर विशाल प्रदर्शनों की उम्मीद की जा रही है.

यह मुहिम पिछले साल अमरीका में कॉर्पोरेट जगत और वित्तीय संस्थानों के कथित लालच और वित्तीय घपलों के खिलाफ विरोध के तौर पर शुरू हुई थी.

इन प्रदर्शनों के दौरान शहरों में, दफ्तरों में काम करने वालों और विभिन्न क्षेत्रों के कर्मचारियों को हड़ताल करने को भी कहा जा रहा है.

न्यू यॉर्क में इसके तहत मंगलवार को बड़े बड़े बैंकों और कंपनियों के मुख्यालयों के सामने धरने और प्रदर्शन किए जाएंगे.

सिटी बैंक, डॉयचे बैंक, बैंक ऑफ अमरीका जैसे बैंकों और दफ्तरों समेत शहर के अहम स्थानों जैसे बस और ट्रेन अड्डों और अहम ब्रिजों को भी बंद करवाने की कोशिश की जा सकती है.

बंद

बैंकों और कंपनियों समेत कुल 99 स्थानों की इमारतों के बाहर प्रदर्शनकारी जमा होकर उस इमारत में काम करने वाले लोगों को भी अंदर जाने से रोकने की कोशिश कर सकते हैं.

यह संख्या 99 प्रतिशत लोगों का प्रतिनिधित्व करने का प्रतीक है.

आक्यूपाई वॉल स्ट्रीट मुहिम के प्रदर्शनों के मकसद के बारे में एक आयोजक मरिसा होम्स कहती हैं, “देखिए हम लोग न तो किसी नीति में कोई छोटा-मोटा बदलाव करवाने की मांग कर रहे हैं और न ही किसी नेता से कोई मांग कर रहे हैं. हम तो पूरी व्यवस्था ही बदलना चाहते हैं, और इसके लिए हम एक दूसरे से कह रहे हैं कि हम लोग मिलकर एक नई व्यवस्था का निर्माण करें.”

स्थानीय समय के अनुसार सुबह 8 बजे प्रदर्शनकारी शहर के बीटो बीच स्थित ब्रायंट पार्क में जमा होंगे और वहीं से शहर भर में 99 अलग अलग स्थानों पर प्रदर्शन के लिए प्रदर्शनकारियों की छोटी छोटी टुकड़ियां निकल जाएंगी.

काम पर न जाने की अपील

आम लोगों से अपील की जा रही है कि वह अपने काम पर न जाएं, छात्रों से कहा जा रहा है कि वह स्कूल का बॉयकाट करें और विभिन्न क्षेत्रों के कर्चारिययों को भी अपने काम का बहिष्कार करने को कहा जा रहा है.

इस मुहिम को शहर के कई शक्तिशाली मज़दूर संगठनों का भी समर्थन हासिल है. कुल एक 100 से अधिक यूनियनों के हज़ारों की संख्या में कर्मचारी इन प्रदर्शनों में भाग ले सकते हैं.

इस प्रदर्शन के तहत कई जगह पर ब्रिज और ट्रेन स्टेशनों को भी बंद किए जाने की कोशिश की जाएगी.

शहर प्रशासन और पुलिस इस सारे मामले पर नजर रखे है. उप पुलिस कमिशनर का कहना है कि पुलिस शहर में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी फैलाने वालों से सख्ती से निपटेगी.

गिरफ्तारी

आयोजकों का कहना है कि प्रदर्शनों से एक दिन पहले ही पुलिस ने इस मुहिम के कई नेताओं को एहतियात के तौर पर गिरफ्तार कर लिया है.

पिछले साल सितंबर में शुरू होने वाली यह मुहिम अमरीका की आर्थिक नीति को बदलने, कॉर्पोरेट जगत की कथित लालच और समाज में असमानता के खिलाफ विरोध के तौर पर शुरू हुई थी.

इसके दौरान वॉल स्ट्रीट के पास एक पार्क में प्रदर्शनकारियों ने कई महीनों तक डेरा डाले रखा था लेकिन बाद में पुलिस ने वह पार्क खाली करा लिया था. अब तक इस मुहिम के सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारियों को गिरफ़तार भी किया जा चुका है.

मई दिवस के प्रदर्शनों के समय भी गिरफ़्तारियां होने की आशंका है. लेकिन प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वह हर स्थिति का सामना करने के लिए तैयार होकर प्रदर्शनों में शामिल हो रहे हैं.

संबंधित समाचार