कश्मीरी को मिला था ओबामा को मारने का काम

ओसामा बिन लादेन और बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption लादेन ने दो इकाइयाँ गठित करने का भी निर्देश दिया था

अमरीकी सेना की ओर से जारी दस्तावेजों के मुताबिक ओसामा बिन लादेन ने अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और जनरल डेविड पेट्रियस को जान से मारने की योजना बनाई थी और ये काम उन्होंने इलियास कश्मीरी को सौंपा था.

पाकिस्तान के ऐबटाबाद स्थित ओसामा बिन लादेन के घर से बरामद दस्तावेज से ये जानकारी सामने आई है. जनरल डेविड पेट्रियस उस समय अफगानिस्तान में शीर्ष अमरीकी कमांडर थे.

दस्तावेज के मुताबिक लादेन ने इलियास कश्मीरी को ये निर्देश दिया था कि वे ओबामा और पेट्रियस के विमानों को निशाना बनाने के लिए दो इकाइयाँ गठित करें.

पिछले साल दो मई को ऐबटाबाद स्थित इसी मकान में अमरीकी विशेष सैन्य दस्ते की कार्रवाई में ओसामा बिन लादेन मारे गए थे.

ऐबटाबाद स्थित इसी घर से बरामद दस्तावेजों में कुछ दस्तावेज अमरीका के कम्बैटिंग टेरेरिज्म सेंटर ने जारी किए हैं. इन्हीं दस्तावेजों के मुताबिक अल कायदा के नेता सिर्फ ओबामा और पेट्रियस को निशाना बनाना चाहते थे.

निशाना

दस्तावेज में कहा गया है- ओसामा बिन लादेन ने मुस्तफा अबू अल याजिद से कहा था कि वो इलियास (माना जा रहा है कि वो इलियास कश्मीरी थे) को ये काम सौंपे. इलियास से एक पाकिस्तान और एक अफगानिस्तान के बगराम में दो इकाइयाँ गठित करने को कहा गया था ताकि राष्ट्रपति ओबामा और जनरल पेट्रियस के विमानों को निशाना बनाया जा सके.

दस्तावेजों के मुताबिक लादेन ने इसकी व्याख्या की थी कि ओबामा की मौत से पूरी तरह बेपरवाह उप राष्ट्रपति जो बाइडन अपने आप राष्ट्रपति का पदभार संभालेंगे, जिससे अमरीका संकट के दौर में आ जाएगा.

इसके अलावा पेट्रियस की हत्या से युद्ध पर भी गंभीर असर पड़ेगा. हालाँकि दस्तावेजों से ये पता नहीं चलता कि लादेन रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स और ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टॉफ एडमिरल माइक मलेन या फिर पाकिस्तान और अफगानिस्तान में अमरीका के विशेष दूत को निशाना बनाना क्यों नहीं चाहते थे.

इलियास को हत्याओं का काम सौंपते हुए एक पत्र में ओसामा बिन लादेन ने कहा था, "ये बहुत अच्छा होगा अगर आप पाकिस्तान के अपने भाइयों और अफगानिस्तान के तालिबान के साथ समन्वय के साथ काम करें ताकि हमारे बीच पूरा सहयोग रहे. आप उन्हें ये बताएँ कि हमने वर्षों पहले अमरीकी के अंदर जाकर योजना पर काम शुरू किया है और हमें इस क्षेत्र में काफी अनुभव हासिल हुआ है. हम और वे भाई हैं. इसलिए हमें वैसी गलती नहीं करनी चाहिए जिससे मुसलमानों को दुख पहुँचे और समन्वय की कमी के कारण दुश्मनों को फायदा पहुँचे."

कौन हैं इलियास कश्मीरी

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption इलियास कश्मीरी पर मुंबई हमलों में शामिल होने का आरोप है

इलियास कश्मीरी चरमपंथी गुट हरकतुल जेहाद अल इस्लामी के प्रमुख थे. 2008 में हुए मुंबई हमलों में भी उनके शामिल होने का आरोप लगाया जाता है.

पिछले साल जून में ये खबर आई थी कि इलियास कश्मीरी ड्रोन हमले में मारे गए हैं. लेकिन वर्ष 2009 में भी ऐसी ही खबर आई थी, जो बाद में गलत साबित हुई. हालाँकि पिछले साल पाकिस्तान ने भी इसकी पुष्टि की थी.

इलियास कश्मीरी को पाकिस्तान के कराची में मेहरान नौसेना अड्डे पर हुए हमले का मास्टर माइंड क़रार दिया जाता है.

अमरीकी विदेश मंत्रालय हरकतुल जेहाद अल इस्लामी को भारत, पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान में हुए कई चरमपंथी हमलों का ज़िम्मेदार मानता था, जिनमें 2006 में कराची में अमरीकी वाणिज्य दूतावास पर हमला भी शामिल है.

अमरीका ने उनका पता बताने वाले को 50 लाख डालर इनाम देने की घोषणा की थी.

संबंधित समाचार