ओबामा, बुश से 9/11 मामले पर गवाही की मांग

ग्वांतानामो इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ग्वांतानामो की अदालत का एक स्केच

अमरीका में हुए 9/11 हमलों के तीन अभियुक्तों के वकील चाहते हैं कि राष्ट्रपति बराक ओबामा और पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश इस मामले में गवाही दें.

वकीलों का कहना है कि इन लोगों को निष्पक्ष सुनवाई नहीं मिल सकती क्योंकि इन्हें पहले ही आंतकवादी और कातिल कहा गया है.

रामजी बिन अलशिब, अली अब्दुल अजीज और मुस्तफा अहमद अल-हवसावीं पर ग्वांतानामो बे की सैन्य अदालत में मुकदमा चलेगा जहां वे मौत की सजा का सामना कर सकते हैं.

दोनों राष्ट्रपतियों की गवाही देने की कोई संभावना नहीं है.

न्यूयार्क, अमरीका और पैनसिलवेनिया में सितंबर 11 के हमलों में 2,976 लोग मारे गए थे.

बचाव पक्ष ने मामले में कहा कि अपनी भाषा से वर्तमान और पूर्व राष्ट्रपति ने मुकदमे पर 'अवैध प्रभाव' डाला है.

'सुलझाने होंगे कई मामले'

बीबीसी के जोनाथन ब्लेक ने वाशिंगटन में कहा है कि यह निवेदन उन तमाम मुश्किल मामलों को दर्शाता है जिन्हें इस मुकदमे की शुरुआत से पहले सुलझाने की जरूरत पड़ेगी. इससे यह भी पता चलता है कि इन हमलों के लिए न्याय दिलवाना अमरीका के लिए कितना कठिन है.

वकीलों ने कहा, ''इन तथ्यों को देखते हुए किसी भी जानकार और अपक्षपाती पर्यवेक्षक के लिए यह मानना असंभव है कि इन लोगों को निष्पक्ष सुनवाई मिल सकती है.''

उन्होंने कहा, ''अधिकतर लोग यही समझेंगे कि सैन्य कमीशन की यह प्रणाली इन अभियुक्तों को केवल मौत की सजा देने के लिए बनाई गई है.''

वकीलों ने उप-राष्ट्रपति जो बिदेन, एटोर्नी जनरल एरिक होलडर समेत पेंटागन के कई अधिकारियों की गवाही के लिए भी निवेदन किया है.

यह निवेदन 11 मई को दायर किया गया था लेकिन सुरक्षा स्वीकृति के बाद पेंटागन की वेबसाइट पर बुधवार को डाला गया.

अभियोग ने इस निवेदन का अभी कोई जवाब नहीं दिया है.

संबंधित समाचार