महापात्र ने कहा उड़ीसा में बगावत नहीं

  • 30 मई 2012
Image caption ओडिशा के मुख्यमंत्री विदेश दौरा अधूरा छोड़कर वापस लौट आए हैं

बीजू जनता दल के कद्दावर राज्य सभा सांसद प्यारी मोहन महापात्र ने बुधवार को स्पष्ट किया कि वे न तो मुख्यमंत्री बनने की फिराक में हैं और न ही पार्टी में कोई बगावत है.

हालाँकि उन्होंने यह ज़रूर स्वीकार किया कि पार्टी के अन्दर इस बात को लेकर असंतोष है कि 'कुचक्रियों' को पार्टी में ज्यादा तवज्जो दी जा रही है.

कल अपने निवास पर 30 से भी अधिक विधायकों की बैठक के बारे में स्पष्टीकरण देते हुए महापात्र ने कहा कि ये कोई औपचारिक बैठक नहीं थी.

हालाँकि उन्होंने कहा कि कुछ विधायकों को अलग-अलग समय पर पार्टी संगठन के बारे में चर्चा के लिए जरूर बुलाया था और कुछ विधायक खुद उनके पास आए थे.

महापात्र ने ये भी कहा कि कुल 33 विधायक उनसे मिले, जबकि मीडिया के अनुसार सिर्फ 13 विधायक ही उनसे मिलने आए थे.

मुख्यमंत्री से बात

मुख्यमंत्री और बीजेडी अध्यक्ष नवीन पटनायक के यूरोप दौरा को अधूरा छोड़ वापस लौट आने पर उन्होंने कहा, "ज़ाहिर है उन्हें गलत सूचना दी गई है. मैं समझता हूँ कि उन्हें अपना दौरा पूरा किए बिना वापस आने की कोई ज़रुरत नहीं थी."

उन्होंने बताया कि कल रात उनकी पटनायक से फ़ोन पर बातचीत हुई. पटनायक ने उनसे मेरे घर पर विधायकों के साथ हुई बैठक के बारे में पूछा. "मैंने उन्हें आश्वासन दिया कि उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है."

खबर है कि पटनायक आज सुबह नई दिल्ली पहुँचने के बाद वहां से रवाना हो चुके हैं और आज दोपहर किसी समय भुवनेश्वर पहुंच सकते हैं.

कांग्रेस से समर्थन नहीं

कांग्रेस से समर्थन से सरकार बनाने की अटकलबाजी के बारे में महापात्र ने कहा कि वे ज़िन्दगीभर कांग्रेस विरोधी रहे हैं और उसके सम्रर्थान से सरकार बनाने की बात सोच भी नहीं सकते.

उन्होंने कहा, "यह बात तब उठती अगर मैं मुख्यमंत्री बनना चाहता. अगर मुझे मुख्यमंत्री बनना ही होता, तो मैं 2009 में ही बन जाता. आप सभी जानते हैं कि उस चुनाव में जीतकर आनेवाले 103 बीजद विधायकों में से 90 प्रतिशत लोगों को मैंने खुद टिकट दिया था."

नवीन पटनायक तो उनमें से आधे का नाम भी नहीं जानते थे."

बीजू जनता दल विधायक दल की बैठक के बारे में महापात्र ने कहा कि पार्टी के एक उपाध्यक्ष ने बैठक बुलाई है तो अन्य दूसरे उपाध्यक्ष ने कहा है कि विधायकों का बैठक में इतनी जल्दी पहुंचना संभव नहीं है.

यह पूछे जाने पर कि क्या उनका समर्थन करने वाले विधायक बैठक में हिस्सा लेंगे यह नहीं, उन्होंने कहा "अगर उन्हें बुलाया गया होगा, तो वे ज़रूर जायेंगे."

संबंधित समाचार