अमरीकी रक्षा मंत्री दो दिनों के भारत दौरे पर

पनेटा इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption भारत में अमरीकी राजदूत नैंसी पॉवेल ने पनेटा की अगवानी की.

अमरीका के रक्षा मंत्री लियोन पनेटा दो दिनों के भारत दौरे पर मंगलवार की दोपहर दिल्ली पहुंचे. इस दौरान वो भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, रक्षा मंत्री एके एंटनी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) शिव शंकर मेनन से मुलाकात करेंगे.

समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार अमरीकी रक्षा मंत्री का दौरा उस वक्त हो रहा है जब अमरीका एशिया को केन्द्र में रखकर अपनी रणनीति बना रहा है.

एएफपी के अनुसार अमरीका चाहता है कि भारत अमरीका के रणनीतिक कार्यक्रम में उसका सहयोगी बने.

सुधरे हैं संबंध

विशेषज्ञों का कहना है कि हाल के दिनों में भारत और अमरीका के बीच संबंध में लगातार सुधार हुआ है. लेकिन अमरीका चाहता है कि एशिया में चीन की भूमिका को कम करने में भारत उसकी मदद करे.

अमरीका की यह भी इच्छा है कि भारत, चीन की भूमिका कम करने के अलावा दोनों देशों के आर्थिक हित को भी मजबूत बनाए.

अमरीकी रक्षा मंत्री अपने दो दिवसीय दौरे में रक्षा संबंधी बातों के अलावा अफगानिस्तान में नेटो की मौजूदगी के साथ-साथ चीन के एशिया में बड़ी ताकत के रूप में उभरने के बारे में बातचीत करेगें.

अमरीका ने जब इस साल के जनवरी में अपनी रणनीति का खुलासा किया था तो राष्ट्रपति बराक ओवामा ने रणनीतिक सहयोगी के रूप में सिर्फ भारत का नाम लिया था.

इस्लामी चरमपंथी

अमरीकी पदाधिकारियों का कहना है कि दोनों देशों में कई बातें एक जैसी हैं जिनमें दोनों देशों का लोकतांत्रिक होना भी शामिल है. इसके साथ ही दक्षिण एशिया में इस्लामी चरमपंथियों के हमले भी दोनों देशों की चिंता का कारण है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption लिओन पनेटा प्रधानमंत्री और एनएसए से भी मिलेगें

हालांकि पिछले दिनों अमरीका से भारत ने व्यापक पैमाने पर हथियार खरीदे हैं लेकिन 2011 के अप्रैल में भारत ने अमरीका से 1200 करोड़ का फाइटर जेट खरीदने का ठेका रद्द कर दिया था.

इसके अलावा भारत ने अमरीका द्वारा लगाए गए निर्यात प्रतिबंध की भी आलोचना की थी जिसमें भारत को कुछ बेहतर अमरीकी हथियार मिल सकते थे.

अफगानिस्तान

भारत की चिंता यह भी है कि अगर 2014 के अंत तक अफगानिस्तान में मौजूद अमरीकी और नेटो सैनिक चले जाते हैं तो इससे इस्लामिक चरमपंथियों को अपना पांव जमाने में मदद मिल जाएगी.

अमरीकी रक्षा मंत्री नौ दिनों की एशिया दौरे पर हैं. इस दौरे में वो सबसे पहले सिंगापुर गए थे. लियोन पनेटा इससे पहले वियतनाम गए थे. पनेटा वियतनाम युद्ध के बाद वहां जाने वाले पहले अमरीकी रक्षा मंत्री हैं.

संबंधित समाचार