चांद पर नहीं चढ़ पाया पेप्सी का रंग

चांद पर पेप्सी इमेज कॉपीरइट kabirnews
Image caption जो आसमान में नहीं दिखा, फोटोशॉप ने दिखा दिया.

अफ़वाहों में बड़ी ताक़त होती है. भारत में लोग गणेश को दूध पिलाने लग जाते हैं और ईरान में चाँद पर पेप्सी का लोगो बनने का इंतज़ार करने लगते हैं.

ईरान में मंगलवार की रात अजब माहौल था.

हजारों लोग इस उम्मीद में अपनी छतों पर चढ़े रहे कि उन्हें चंद्रमा पर शीतय पेय बनाने वाली कंपनी पेप्सी का लोगो दिखाई देगा.

दरअसल पिछले कुछ दिनों से ईरान में इंटरनेट और सोशल मीडिया वेबसाइटों पर ये अफवाह थी कि पेप्सी ताकतवर लेजर गनों के जरिए चंद्रमा पर अपना लोगो उकेरेगी.

बहुत से लोगों ने इस तरह के प्रचार अभियान को अंजाम देने की पेप्सी की तकनीकी क्षमताओं पर संदेह जताया जबकि बाकी लोगों ने इस पर विश्वास ही कर लिया.

इंटरनेट पर गुस्सा

ये बात यहीं नहीं थमी. ईरान की अर्धसरकारी समाचार एजेंसी इसना ने तो कारोबारी विशेषज्ञों से इंटरव्यू करके ये जानना चाहा कि अगर पेप्सी ने चंद्रमा पर अपना लोगो प्रदर्शित कर दिया तो इससे कंपनी को अपने मौजूदा बाजार के बनाए रखने और नए बाजार कायम करने में कितनी मदद मिलेगी.

इसके अलावा समाचार एजेंसी ने इसके नैतिक पहलू पर भी सवाल उठाया क्योंकि चंद्रमा बहुत सी संस्कृतियों में आध्यात्मिक स्थान रखता है. इसके अलावा साहित्य और कविता में भी उसे महत्व दिया जाता है.

जिन लोगों ने चांद पर पेप्सी का लोगो देखने के लिए अपनी छतों पर लगभग घंटे भर से ज्यादा इंतजार किया, अब वे सोशल मीडिया वेबसाइटों पर ही अपना गुस्सा निकाल रहे हैं और इसके लिए इंटरनेट को ही इसका जिम्मेदार बता रहे हैं.

वैसे कुछ लोग इसका मजाक उड़ा रहे हैं तो कुछ लोगों ने फोटोशॉप सॉफ्टवेयर के जरिए वो नजारा तैयार किया है जिसे आसमान में देखने की तमन्ना पूरी नहीं हो सकी.

संबंधित समाचार