परदेस में परिवार का कत्ल, फिर खुदकुशी

अवतार सिंह, Avtar singh, Avtaar इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अवतार सिंह एक मानवाधिकार मामलों के वकील ज़लील अंद्राबी की संदिग्ध मौत के आरोपी थे. (फाइल फोटो)

भारत प्रशासित कश्मीर में साल 1996 में एक वकील की हत्या के मामले में वांछित एक पूर्व भारतीय सैन्य अधिकारी ने अमरीका के कैलिफॉर्निया में अपनी पत्नी और दो बच्चों को मारकर आत्महत्या कर ली है.

स्थानीय पुलिस के अनुसार 47 वर्षीय अवतार सिंह ने सेलमा पुलिस को शनिवार सुबह सवा छह बजे फोन पर बताया कि उन्होंने अपने परिवार की हत्या कर दी है और खुद की भी जान ले ली है.

अवतार सिंह की सैन्य पृष्ठभूमी रही है इसलिए स्थानीय पुलिस ने फ्रेस्नो काउंटी शेरिफ के अधिकारियों से मदद मांगी थी.

अधिकारियों के मुताबिक अवतार सिंह से बात करके समझाने की कोशिश की गई लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया.

हत्या

पुलिस के विशेष दस्ते स्वाट (एसडब्ल्यूएटी) ने अवतार सिंह के घर का रोबोट से मुआयना करवाने के बाद जैसे ही अंदर गए तो उन्होंने देखा कि अवतार सिंह, उनकी पत्नी, व तीन और पंद्रह साल के दो बच्चों के शव मिले.

स्थानीय पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मौके पर एक 17 साल का लड़का भी घायल अवस्था में पाया गया जिसे अस्पताल ले जाया गया है.

हालांकि इन हत्याओं के पीछे के कारण का पता नहीं चल पाया है.

साल 1990 के दशक में अवतार सिंह भारतीय सेना में मेजर के पद पर कार्यरत थे और उनपर साल 1996 में मानवाधिकार मामलों के वकील जलील अंद्राबी की श्रीनगर मे हत्या करने का आरोप था.

अंद्राबी साल 1996 में लापता हुए थे और इसके 19 दिन बाद उनका शव श्रीनगर की एक नदी में उतराया पाया गया था. अंद्राबी के सर में गोली मारी गई थी.

भारत से अमरीका पलायन

हत्या के इस आरोप के बाद सिंह अमरीका चले गए थे. अवतार सिंह अमरीका में एक ट्रास्पोर्ट कंपनी चलाते थे.

सिंह को अमरीका में साल 2011 फरवरी में गिरफ्तार किया गया जब उनकी पत्नी ने अवतार सिंह पर उन्हें गला घोटकर मारने की कोशिश का आरोप लगाया.

उन्हें हिरासत में लिए जाने के बाद अमरीकी पुलिस को जानकारी मिली कि अवतार सिंह भारत में एक हत्या के मामले में वांछित है.

इस घटना के कुछ ही दिन बाद भारतीय अधिकारियों ने अवतार सिंह को प्रत्यर्पित किए जाने की मांग की था. हालांकि ये अभी तक स्पष्ट नहीं है कि इस मांग के बावजूद अवतार सिंह पुलिस की गिरफ्त से बाहर कैसे रह रहें थे.

संबंधित समाचार