नेपोलियन का खत सवा दो करोड़ का बिका

नेपोलियन इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption साल 1821 में नेपोलियन की 51 साल की उम्र में सेंट हेलेना टापू पर में मौत हो गई

फ़्रांसीसी सम्राट नेपोलियन बोनापार्ट का अंग्रेज़ी में लिखा हुआ एक बहुत ही दुर्लभ पत्र क़रीब 2 .20 करोड़ रुपयों में बिका है.

दक्षिण फ़्रांस के एक नीलामीघर में बिके इस ख़त के लिए उम्मीद से पांच गुना ज़्यादा पैसे मिले.

नेपोलियन ने अंग्रेज़ी सीखने की अपनी कोशिश के दौर में यह ख़त वर्ष 1816 में लिखा था. इस दौरान नेपोलियन दक्षिण एटलान्टिक के सेंट हेलेना टापू पर क़ैद थे

लम्बी चली आक्रामक बोली के दौरान आख़िरकार यह ख़त फ़्रांस के ही एक खतों के संग्रहालय ने खरीदा.

नेपोलियन को साल 1815 में वॉटरलू की लड़ाई में हारने के बाद सेंट हेलेना के टापू पर क़ैद किया गया था.

एक पन्ने का यह ख़त मार्च नौ, 1816 के दिन उनके अंग्रेज़ी शिक्षक को लिखा गया है.

इस ख़त में एक जहाज़ का ज़िक्र है जो क़रीब एक सप्ताह में सेंट हेलेना पहुँचने वाला है. इस ज़हाज़ से नेपोलियन को यूरोप से कुछ खबरें आने की उम्मीद थी.

अंग्रेज़ी जुबान में लिखे इस ख़त में कई व्याकरण की गलतियाँ हैं.

इस ख़त को देखकर मालूम होता है कि नेपोलियन ने जिस वक़्त यह ख़त लिखा उन्हें नींद नहीं आ रही थी क्यों कि इस ख़त पर उन्होंने सुबह चार बजे का वक़्त दर्ज किया है.

यह ख़त दुनिया में नेपोलियन के द्वारा अंग्रेजी में लिखे गए तीन खतों में से ये एक ख़त है.

साल 1821 में नेपोलियन की 51 साल की उम्र में सेंट हेलेना टापू में ही मौत हो गई.

इतिहास की किताबों में इस बात का उल्लेख मिलता है कि किस तरह नेपोलियन खुद को कैद करने वाले अंग्रेजों की जुबान सीखना चाहते थे.

संबंधित समाचार