इराक में बम हमले, 80 से अधिक की मौत

  • 13 जून 2012
इराक बम हमला इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पिछले कुछ दिनों में शिया समुदाय पर लगातार कई हमले हुए है

इराक़ मे हुए कई बम धमाकों में 84 लोग मारे गए हैं और लगभग 300 लोग घायल हो गए हैं. इराक़ से पिछले साल अमरीकी सैनिकों की वापसी के बाद से ये सबसे बड़ा हमला है.

बगदाद में ही 10 जगहों पर बम फटे. इराकी पुलिस का कहना है कि मरने वाले ज्यादातर शिया थे जो एक त्योहार के लिए इकट्ठा हुए थे.

बगदाद से दक्षिण में स्थित हिला में एक रेस्तराँ के पास हुए दो कार बम धमाकों में कम-से-कम15 लोग मारे गए. समझा जाता है कि वहाँ पुलिस और सुरक्षाबलों को निशाना बनाने की कोशिश की गई.

सबसे पहला कार बम उत्तरी बगदाद के ताजी इलाके में हुआ. वहाँ शिया श्रद्धालुओं के एक जुलूस को निशाना बनाया गया जो इमाम मूसा अल कदीम की बरसी पर उनके दरगाह जा रहे थे.

इसके बाद राजधानी के आस-पास एक के बाद एक चार बम फटे. एक बम एक शिविर में फटा जहाँ शिया श्रद्धालु आराम कर रहे थे.

इराक में पिछले कुछ दिनों में शिया समुदाय पर लगातार कई हमले हुए है.

रविवार को बगदाद के एक धार्मिक स्थान पर हुए मोर्टार हमले में चार शिया मारे गए थे.

इराक के गृह मंत्रालय ने कहा है कि इन हमलों के बाद सुरक्षा के इंतजाम कड़े कर दिए गए हैं.

हिला से आ रही तस्वीरों में तबाह रेस्तरां और कारें, सड़कों पर बिखरा सामान दिख रहा है.

स्थानीय पुलिस और अग्निशमन विभाग जगह को साफ करने में लगा हुआ है.

पिछले कुछ साल पहले कुछ सालों में इराक में सांप्रदायिक हमलों में हालाँकि कमी आई है, चरमपंथी अभी भी सुरक्षाबलों और नागरिकों पर हमले कर रहे हैं.

जब से इराक में शिया प्रधानमंत्री नूरी मलिक ने अपने कैबिनेट के कुछ सदस्यों - जिनमें सुन्नियों की संख्या ज्यादा है – के खिलाफ कार्रवाई की है, तबसे शिया ठिकानों पर दोबारा हमले होने शुरू हो गए हैं.

संबंधित समाचार