तस्वीरो के ज़रिए दी गई चेतावनी का असर ज़्यादा

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption शोध के मुताबिक ऐसी तस्वीरों का धूम्रपान करने वालों के दिमाग पर ज़्यादा असर पड़ता है

एक अमरीकी शोध में सामने आया है कि सिगरेट के पैकेटों पर तस्वीरों के ज़रिए दी जाने वाली चेतावनी से सिगरेट पीने वाले लोगों पर सकारात्मक असर पड़ता है.

दरअसल धूम्रपान से होने वाले नुकसान को दर्शाने के लिए सिगरेट के पैकेटों पर वेंटिलेटर की मदद लेने वाले मरीज़ों की तस्वीरें लगाई जाती हैं.

अमरीकन जर्नल ऑफ प्रिवेन्टिव मेडिसिन द्वारा 200 लोगों पर किए गए शोध में पाया गया कि 83 प्रतिशत धूम्रपान करने वालों को सिगरेट के पैकेट पर चेतावनी दर्शाने के लिए छपी तस्वीर याद थी.

इसके मुकाबले जब सिगरेट के पैकेटों पर चेतावनी केवल लिखित रूप में दी जाती थी, तो केवल 50 प्रतिशत धूम्रपान करने वालों को वो याद रहती.

ब्रिटेन में सरकार सिगरेट की पैकिंग पर विचार-विमर्श कर रही है.

आंखों को ट्रैक करने वाली तकनीक के ज़रिए पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने ये जानने की कोशिश की कि लोग सिगरेट के पैकेटों पर छपी चेतावनी को देखने में कितना समय व्यतीत करते हैं.

जिन लोगों पर शोध किया गया, उनसे कहा गया कि वे पैकेट पर लिखी चेतावनी को देखें और फिर कागज़ पर लिखें कि उन्हें वो जानकारी कितनी याद थी.

दिमाग पर असर

शोध के मुताबिक धूम्रपान करने वाले लोगों में से जो लोग चेतावनी को ज़्यादा देर तक देखते हैं, वो उसे याद रखने में कामयाब रहते हैं.

पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉक्टर एंड्रयू स्ट्रेसर का कहना है कि शोध में आए तथ्य महत्तवपूर्ण हैं.

उन्होंने कहा, “इस शोध से सिगरेट के पैकेटों पर चेतावनी की तस्वीरों की महत्ता पता चलती है. आने वाले दिनों में इसी तरह की चेतावनियों का इस्तेमाल आम हो सकता है.”

डॉक्टर स्ट्रेसर ने उम्मीद जताई कि तस्वीरों के ज़रिए चेतावनी देने से लोगों के दिमाग पर ज़्यादा असर पड़ेगा और वे धूम्रपान करना छोड़ देंगें.

गत अप्रैल में ब्रिटेन की सरकार ने एक बैठक बुलाई थी जिसमें इस बात पर चर्चा हुई कि तम्बाकू के उत्पादनों को एक नई और विशिष्ट पैकिंग दी जानी चाहिए.

इस बैठक में पैकेटों पर दिए जाने वाली चेतावनी के शब्द और तस्वीरों पर चर्चा हुई.

इस बैठक में जिन बिंदुओं पर चर्चा हुई, उसका तम्बाकू बनाने वाले संघ ने भी समर्थन किया था.

अमरीका में स्वास्थ्य अधिकारियों ने पिछले साल सितंबर में तम्बाकू कंपनियों को आदेश दिए थे कि सिगरेट के पैकेटों पर तस्वीरों के साथ चेतावनी छपनी चाहिए.

तंबाकू कंपनियां इस आदेश के खिलाफ कोर्ट में अपील कर चुकी हैं. आस्ट्रेलिया ही अकेला देश है जिसने इस तरह के आदेशों को अंजाम दिया है.

संबंधित समाचार