पैसे जमा करो और मगरमच्छ मारो!

मगरमच्छ इमेज कॉपीरइट AP

ऑस्ट्रेलिया की सरकार भीमकाय मगरमच्छों के शिकार की अनुमति देने पर विचार कर रही है. केंद्रीय सरकार से इस बाबत आग्रह नॉर्दन टेरिटरी की राज्य सरकार ने किया है.

नॉर्दन टेरिटरी के मुख्यमंत्री पॉल हेंडरसन का कहना है कि मगरमच्छों का शिकार स्थानीय आदिम जनजातियों के लिए नौकरियों के नए अवसर पैदा करेगा और पर्यटन को बढ़ावा देगा.

केंद्र सरकार का कहना है कि प्रयोग के तौर पर वो 50 बड़े मगरमच्छों के शिकार की अनुमति दे सकती है.

पशुओं के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्थाओं ने इस विचार को घृणास्पद करार दिया है. उनके अनुसार अमीर आदमियों को पैसों के बदले में मगरमच्छों की हत्या करने देना बहुत ही बुरी बात है.

भरमार हो गई है

खारे पानी के मगरमच्छ दुनिया के सबसे ख़तरनाक शिकारियों में से एक हैं.

यूँ तो ऑस्ट्रेलिया में खारे पानी के मगरमच्छ संरक्षित हैं मगर नॉर्दन टेरिटरीकी सरकार पिछले एक दशक से रह रह कर इन मगरमच्छों के शिकार की अनुमति देने की मांग कर रही है.

नॉर्दन टेरिटरी के मुख्यमंत्री पॉल हेंडरसन का कहना है कि इस इलाके में अब मगरमच्छों की भरमार हो गई है और इनके शिकार की अनुमति से इस प्रजाति को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा.

हेंडरसन का कहना है, "नॉर्दन टेरिटरीमें आईये और मगरमच्छ ले जाइए. अगर लोग यह करना चाहते हैं और उनके पास पैसे हैं तो मैं इसके समर्थन में हूँ."

नॉर्दन टेरिटरी की सरकार के काफ़ी ज़्यादा आग्रह और दावों के बाद ऑस्ट्रेलिया की सरकार प्रयोग के तौर पर 50 मगरमच्छों के शिकार की अनुमति देने के लिए राज़ी हो गई है.

मगरमच्छों का अध्यन करने वाले एडम ब्रिटन का मानना है कि सरकार का यह प्रयोग बहुत सफल नहीं होगा. ब्रिटन कहते हैं, "मैं इस समय अफ्रीका में हूँ और यहाँ कई देशों में मगरमच्छों को मारने की अनुमति है पर इसे कोई बहुत बड़ा या बढ़िया शिकार नहीं माना जाता. इसे मारने में कोई उत्तेजना नहीं है."

पशु अधिकारों के लिए काम करने वालों के अलावा ऑस्ट्रेलिया की आदिम जनजातियों के सदस्य भी इस विचार से कोई बहुत उत्साहित नहीं हैं.

मगरमच्छ ऑस्ट्रेलिया की इन जनजातियों के लिए उनकी संस्कृति का अभिन्न अंग हैं. उनके चित्रों से लेकर लोक गायन तक हर जगह मगरमच्छ वर्णन में बने रहते हैं.

संबंधित समाचार