संभव है विमान सीमा पार कर गया होः तुर्की

  • 24 जून 2012
तुर्क राष्ट्रपति इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption राष्ट्रपति गुल ने कहा कि मामले की पूरी तरह जांच की जाएगी.

तुर्की के राष्ट्रपति अब्दुल्ला गुल ने कहा कि उनके देश के जिस लड़ाकू विमान को सीरिया ने शुक्रवार को मार गिराया, हो सकता है कि उसने सीरियाई वायुक्षेत्र का उल्लंघन किया हो.

गुल ने कहा कि तेज रफ्तार वाले लड़ाकू विमानों के लिए कुछ दूरी तक सीमा के पार चले जाना आम बात है. शुक्रवार को गायब हुए एफ-4 फैंटम विमान को भूमध्यीय सागर में मार गिरा दिया गया था.

तुर्की की सेना का कहना है कि शुक्रवार को हतय प्रांत के इरहाच हवाई ठिकाने से उड़ान भरने के 90 मिनट बाद एफ-4 फैंटम विमान से उसका संपर्क टूट गया. उस समय विमान भूमध्यीय सागर के ऊपर उड़ान भर रहा था.

वहीं सीरिया ने विमान को मार गिराने की पुष्टि करते हुए कहा कि इस तरह की स्थिति के लिए जो नियम तय किए गए हैं, उन्हीं के मुताबिक (इस विमान से) निपटा गया है. सीरिया की सेना का कहना है कि इस विमान से उसके वायुक्षेत्र का उल्लंघन किया.

'पर्दा डालना मुश्किल'

तुर्की और सीरिया, दोनों देशों की नौसेनाओं चालक दल के दो सदस्यों को तलाश रही हैं.

नेटो का सदस्य तुर्की और सीरिया कभी एक दूसरे के नजदीकी सहयोगी रहे हैं, लेकिन मार्च 2011 में सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद के खिलाफ विद्रोह शुरू होने के बाद से दोनों देशों के रिश्ते तेजी से बिगड़े हैं.

तुर्की भी उन देशों में शामिल है जो राष्ट्रपति असद की सत्ता से विदाई के लिए दबाव डाल रहे हैं. विद्रोह शुरू होने के बाद से तीस हजार से ज्यादा सीरियाई लोगों ने तुर्की में शरण ले रखी है.

शनिवार को तुर्की के राष्ट्रपति गुल ने कहा कि तुर्की की सरकार इस तथ्य को अनदेखा नहीं कर सकती कि सीरिया ने उसके एक विमान को मार गिराया है.

सरकारी समाचार एजेंसी अनातोलिया ने उनके हवाले से कहा, “इस तरह की चीजों पर पर्दा नहीं डाला जा सकता, जो भी जरूरी होगा किया जाएगा.

तुर्की करेगा जांच

इमेज कॉपीरइट no credit
Image caption तुर्की और सीरिया की नौसेनाओं चालक दल के दो सदस्यों को तलाश रही हैं

आगे उन्होंने कहा, “लड़ाकू विमानों का कभी कभी सीमाओं के परे चला जाना एक आम बात है.. खास कर जब आप समंदर के ऊपर उनकी रफ्तार को ध्यान में रखें तो. ये चीजें दुर्भावाना से प्रेरित नहीं होतीं, लेकिन विमान रफ्तार के कारण नियंत्रण से बाहर चले जाते हैं.”

गुल ने कहा कि इस बारे में जांच होगी कि कहीं विमान को तुर्की के वायुक्षेत्र में तो नहीं मार गिराया गया.

उन्होंने बताया कि तुर्की और सीरिया एक दूसरे के संपर्क में हैं. हालांकि दोनों देशों अपने यहां से एक दूसरे के राजनयिकों को निकाल चुके हैं.

वहीं तुर्की के उप प्रधानमंत्री बुलेंट अरिंच ने बताया कि लड़ाकू विमान टोही अभियान पर था.

इस्तांबुल में बीबीसी संवाददाता जोनाथन हेड का कहना है कि तुर्की की सरकार विमान गिराए जाने को बेहद गंभीरता से ले रही है, लेकिन साथ ही वो बेहद सावधानी से काम ले रही है.

संबंधित समाचार