लाखों अमरीकी घरों में चार दिन से बिजली नहीं

अमरीका में बिजली नहीं इमेज कॉपीरइट AP
Image caption बिजली न होने की वजह से अमरीकियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

गर्मी के मौसम में भारत जैसे विकासशील देश में बिजली की आंखमिचौली आम बात है, लेकिन अगर अमरीका में कई दिनों तक बिजली गुल रहे तो मामला खास हो जाता है.

तूफान से प्रभावित पूर्वी अमरीका में चार दिन से लगभग 13 लाख घरों में बिजली नहीं आई है. इतना ही नहीं गर्मी के इस मौसम में वहां अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है.

ये मौतें सात राज्यों में हुई हैं जिनमें राजधानी वॉशिंगटन डी सी, मैरीलैंड और वर्जीनिया से लेकर क्यूबेक और ओक्लाहोमा जैसे इलाकों में हुई जहां बिजली की बहाली के लिए जद्दोजहद जारी है.

इस काम में लगी कंपनियों ने चेतावनी दी है कि बहुत से इलाकों को शुक्रवार तक भी बिजली के बिना रहना पड़ सकता है.

सब कुछ ठप

बिजली की किल्लत की वजह से वॉशिंगटन डीसी के पास बुधवार को स्वतंत्रता दिवस समारोह से जुड़े कई कार्यक्रमों को रद्द करना पड़ा है.

मैरीलैंड और वर्जीनिया में कई जगहों पर ट्रैफिक लाइट्स काम नहीं कर रही हैं जिसके कारण आने-जाने वालों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

कुछ लोगों का कहना है कि ध्वस्त हो चुकी बिजली की लाइनों और तूफान में उखड़े पेड़ों को रास्तों से नहीं हटाया गया है.

शुक्रवार को आए कई तूफानों ने 800 किलोमीटर तक फैले इलाके में तबाही मचाई और इंडियाना से लेकर डेलावेयर तक में बिजली आपूर्ति ठप हो गई है.

रिपोर्टों के मुताबिक वॉशिंगटन डी सी के इलाके में 1,77,000 लोगों को बिजली के बिना ही गुजारा करना पड़ रहा है.

गर्मी की मार

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कई इलाकों में तूफान में उखड़े पेड़ अभी तक यूं ही पड़े हैं.

बुधवार को पूरे अमरीका में खासी गर्मी रहने की संभावना है. उन इलाकों में भी लोगों के पसीने छूट सकते हैं जो तूफान प्रभावित नहीं हैं. आने वाले कुछ दिनों तक यही मौसम बने रहने की संभावना है.

राष्ट्रीय मौसम सेवा ने इलिनॉए, इंडियाना, मिसोरी, केंटकी, ओहायो, मिशीगन, मिनेसोटा और विस्कॉन्सिन, डेलावेयर और न्यू जर्सी जैसे राज्यों में अत्यधिक गर्मी की चेतावनी जारी की है.

बिजली न होने की वजह से आम लोगों में हताशा है.

समाचार एजेंसी एपी को मैरीलैंड में एक स्थानीय निवासी जॉन मर्फी ने बताया, “हर साल, हर बार यही होता है और इसे देख कर लगता है कि वे इसके लिए किसी तरह की तैयारी नहीं करते हैं.”

मर्फी सोमवार को दिन भर बिजली कंपनी पेप्को के लोगों का इंतजार करते रहे ताकि उनके घर के साथ-साथ पास ही में उनकी मां और बहन के घर में भी बिजली बहाल की जा सके.

अन्य बिजली कंपनी बीजीई का कहना है कि उसके कर्मचारी 16 घंटों की शिफ्ट में काम कर रहे हैं ताकि सब कुछ जल्द ठीक किया जा सके.

संबंधित समाचार