भारतीय मछुआरे की मौत, अमरीका से पूछताछ

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption नौका को दुबई के पास एक बंदरगाह पर ले जाकर जाँच की जा रही है

भारत ने कहा है कि संयुक्त अरब अमीरात के पास एक अमरीकी नौसैनिक जहाज़ से एक नौक पर गोली चलाए जाने की घटना की छानबीन हो रही है जिसमें एक भारतीय मछुआरा मारा गया.

अमरीकी नौसेना ने बताया है कि उनके जहाज़ यूएसएनएस रैप्पाहानोक से एक नौका पर गोली चलाई गई जब वो उनकी चेतावनियों की परवाह ना कर तेज़ी से उनकी ओर चला आ रहा था.

भारतीय विदेश मंत्री एस एम कृष्णा ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि इस मामले को अमरीका के सामने उठाया गया है.

मारा गया व्यक्ति तमिलनाडु का रहनेवाला था. हमले में घायल होनेवाले तीन अन्य लोग भी तमिलनाडु के हैं.

भारतीय विदेश मत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया है - अबू धाबी में हमारा दूतावास इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना की जाँच के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ संपर्क में है.

दिल्ली स्थित अमरीकी दूतावास ने भी घटना के बारे में बयान जारी कर प्रभावित परिवारों के साथ संवेदना प्रकट की है.

समाचार एजेंसियों के अनुसार इस नौका को दुबई में मछुआरों के इस्तेमाल करनेवाले एक बंदरगाह पर ले जाया गया है और संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारी और पुलिस इसकी जाँच कर रहे हैं.

घटना

अमरीकी अधिकारियों ने कहा है कि उनके एक जहाज़ से संयुक्त अरब अमीरात के पास एक नौका पर गोली चलाई गई है.

बहरीन स्थित अमरीकी नौसेना ने एक बयान में लिखा है कि दुबई के जेबेल अली तट के पास ईंधन भरनेवाले इस जहाज़ पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने एक छोटी नौका पर तब गोली चलाई जब उसने उनकी चेतावनियों पर ध्यान दिए बिना तेज़ी से आगे बढ़ना शुरू किया.

बयान में लिखा है – अमरीकी दल ने बार-बार इस नौका को चलानेवालों को आगे नहीं आने की चेतावनी दी. मगर जब वो नहीं रूके तो उन्हें मशीनगन से गोली चलानी पड़ी.

अमरीकी नौसेना ने कहा है कि इस घटना की जाँच की जा रही है. अमरीकी नौसेना का पाँचवाँ बेड़ा बहरीन में स्थित है.

अमरीका ने ईरान की महत्वपूर्ण होरमुज़ जल संधि को बंद करने की धमकी के बाद खाड़ी में अपनी उपस्थिति बढ़ा ली है.

होरमुज़ जल संधि से दुनिया के कुल तेल निर्यात का 20% हिस्सा निर्यात होता है मगर तेल प्रतिबंधों को लेकर ईरान ने होरमुज़ जल संधि को बंद करने की धमकी दी हुई है.

संबंधित समाचार