सीरिया: आत्मघाती हमले में दो केन्द्रीय मंत्रियों की मौत

  • 18 जुलाई 2012
सीरिया इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सीरिया में सरकार और विरोधियों के बीच लड़ाई चरमपंथी सरकार पर दबाव बढ़ाते जा रहे हैं

सीरिया के सरकारी टीवी चैनल के अनुसार दमिश्क में राष्ट्रिय सुरक्षा ब्यूरो की इमारत पर हुए एक आत्मघाती हमले में देश के रक्षा मंत्री दाऊद राजेहा और उप रक्षा मंत्री आसेफ शौकत मारे गए हैं.

राष्ट्रीय सुरक्षा प्रमुख और गृह मंत्री की हालत नाजुक बताई जा रही है.

सीरिया के सरकारी टीवी चैनल ने कहा है कि देश की राजधानी दमिश्क में राष्ट्रीय सुरक्षा को ले कर हो रही एक उच्च स्तरीय बैठक के दौरान ये हमला हुआ.

इस हमले में देश के कई और वरिष्ठ अधिकारी भी बुरी तरह से घायल बताए जा रहे हैं. सरकारी सेनाओं ने इमरात के आसपास के इलाके को सील कर दिया है.

सुरक्षा सूत्रों का कहना है कि आत्मघाती हमलावर राष्ट्रपति बशर के नज़दीकी लोगों की रक्षा करने वाले ख़ास फ़ौजी दस्ते का सदस्य था.

जेनरल राजेहा एक वर्ष से भी कम अवधि के लिए रक्षा मंत्री के पद पर रहे. इससे पहले वो सेना प्रमुख थे और सरकार-विरोधी प्रदर्शनकारियों को दबाने के आरोप में अमरीका ने उन्हें ब्लैकलिस्ट किया हुआ था.

जेनरल शौकत को राष्ट्रपति असद का करीबी माना जाता है. उनकी शादी असद की बहन बुश्रा से हुई थी.

सरकार पर बढ़ता दबाव

ये हमला उस वक्त हुआ है जब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सीरिया में लड़ाई को खत्म करने के लिए कूटनीतिक प्रयास जारी हैं.

संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी रूस और चीन को सीरिया के ऊपर और कड़े प्रतिबंध लगाने के लिए मनाने की कोशिश कर रहे हैं.

बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सीरिया पर प्रतिबंध लगाने पर मतदान होना है.

सीरिया से आ रही ख़बरों के अनुसार देश की राजधानी दमिश्क में लड़ाई तेज हो गई है. इंटरनेट पर जारी किए गए एक वीडियो के अनुसार राष्ट्रपति भवन की पृष्टभूमि में बने फौजी बैरकों को जलते हुए दिखाया गया है.

सरकार के खिलाफ लड़ रहे लड़ाकों के अनुसार वो दमिश्क को "स्वतंत्र कराने की राह" पर हैं. सरकारी अधिकारीयों ने इस तरह के तमाम दावों को खारिज किया है.

इस इलाके में मौजूद बीबीसी संवाददाता का कहना है कि सरकार विरोधी लड़ाकों ने सरकारी सेनाओं के ऊपर दबाव तो बेहद बढ़ा ही दिया है लेकिन वो अभी भी सत्ता के केंद्र पर हमला नहीं कर पा रहे हैं.

संबंधित समाचार