एशिया आ रहे हजारों 'कामोत्तेजक समुद्री घोड़े' जब्त

 शुक्रवार, 24 अगस्त, 2012 को 10:59 IST तक के समाचार

उत्तरी पेरू का उथला और गरम पानी समुद्री घोड़ों की प्रजाति के बढ़ने के लिए अनुकूल होता है.

पेरू के अधिकारियों ने चोरी से एशिया ले जाए जा रहे 16,000 से ज़्यादा समुद्री घोड़े पकड़े हैं.

एशियाई देशों में इनका इस्तेमाल दवा और कामोत्तेजक के तौर पर किया जाता है.

पेरू के अधिकारियों के मुताबिक 150 किलो से ज़्यादा का ये सामान राजधानी लीमा के हवाई अड्डे के पास ज़ब्त किया गया.

समुद्री घोड़े एक विलुप्त हो रही प्रजाति है और पेरू में उनका शिकार करना ग़ैरकानूनी है.

लेकिन चीन और जापान समेत अन्य एशियाई देशों में समुद्री घोड़ों से बनने वाला पाउडर ऊंचे दाम पर बिकता है जिस वजह से पेरू में इनके शिकार पर रोक को लागू करना मुश्किल हो गया है.

पिछले वर्ष पेरू से तस्करी किए जा रहे दो टन समुद्री घोड़े ज़ब्त किए गए थे.

हज़ारों डॉलर में बिक्री

"इनकी तस्करी जापान, दक्षिण कोरिया और चीन को की जाती है जहां इन्हें कामोत्तजक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, चीन में इसे दमे की बीमारी के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है."

विक्टर फर्नानेंडेज़, पुलिस प्रमुख

पेरू की राजधानी लीमा के पुलिस प्रमुख विक्टर फर्नानेंडेज़ ने बीबीसी को बताया कि पुलिस को आता देख तस्कर अपना सामान सड़क पर छोड़कर भाग गए.

फर्नानेंडेज़ ने कहा, “इनकी तस्करी जापान, दक्षिण कोरिया और चीन को की जाती है जहां इन्हें कामोत्तजक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, चीन में इसे दमे की बीमारी के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है.”

फर्नानेंडेज़ के मुताबिक समुद्री घोड़े से बने पाउडर का प्रति किलो मूल्य 6,000 डॉलर तक हो सकता है यानि करीब तीन लाख रुपए.

उत्तरी पेरू का उथला और गरम पानी समुद्री घोड़ों की प्रजाति के बढ़ने के लिए अनुकूल होता है.

पेरू से समुद्री घोड़ों के अलावा कछुओं, बंदर और चिड़ियों क विलुप्त होती प्रजातियों की तस्करी भी की जाती है.

एक अंतरराष्ट्रीय संधि को तहत समुद्री घोड़ों का शिकार नहीं किया जा सकता लेकिन फर्नानेंडेज़ के मुताबिक पिछले वर्ष दुनियाभर से 20 टन समुद्री घोड़े पकड़े गए थे.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.