कुरान जलाने पर दंड, आपराधिक मामला नहीं

 मंगलवार, 28 अगस्त, 2012 को 13:06 IST तक के समाचार

कुरान जलाए जाने की घटना के बाद अफगानिस्तान में दंगे भड़के जिसमें 30 लोगों की मौत हुई थी

अफगानिस्तान में इस वर्ष फरवरी महीने में कुरान की प्रतियां और मुसलमानों की अन्य धार्मिक किताबें जलाने पर छह अमरीकी सैनिकों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी.

अमरीकी अधिकारियों के मुताबिक इन सैनिकों के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं किया जाएगा.

अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत इन सैनिकों का पद कम करने, तन्ख्वाह कम करने या ज़्यादा काम करवाने जैसे दंड दिए जा सकते हैं.

गौरतलब है कि फरवरी में बग्राम हवाई अड्डे में हुई इस घटना के बाद दंगे भड़क गए थे जिनमें दो अमरीकी सैनिकों समेत 30 लोगों की मौत हो गई थी.

तहकीकात कर रहे अफसर ब्रिगेडियर जेनरल ब्रायन वॉटसन ने कहा, “सैनिकों की इस हरकत के पीछे कुरान का निरादर करने की कोई द्वेषपूर्ण भावना या इस्लाम धर्म की निंदा करने की किसी भी दावे को मैं खारिज करता हूं.”

'गुप्त संदेश' भेजने के लिए इस्तेमाल

"सैनिकों की इस हरकत के पीछे कुरान का निरादर करने की भावना नहीं थी."

ब्रिगेडियर जेनरल ब्रायन वॉटसन

इस घटना के बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने इन सैनिकों पर जनता के सामने सुनवाई करने की मांग की थी.

रिपोर्ट के मुताबिक कुरान की 53 प्रतियां और 162 अन्य धार्मिक किताबों को एक भट्टी में जला दिया गया था.

ये शंका थी कि हिरासत में रखे गए कैदी इन किताबों का उपयोग गुप्त संदेश भेजने के लिए कर रहे हैं, इसलिए उन्हें वहां से हटाया गया.

इसमें एक अनुवादक का भी दोष पाया गया, क्योंकि कथित तौर पर उन्होंने इन किताबों में लिखी ज़्यादातर सामग्री को उग्रवादी बताया था और अमरीकी सुरक्षा बलों को इन्हें हटाने के लिए सही तरीके भी नहीं सुझाए.

एक अन्य मामले में तीन सैनिकों पर मृत तालिबानी लड़ाकूओं के शवों पर पेशाब करने के लिए भी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.