रंगारंग समारोह में पैरालिंपिक्स का आगाज़

 गुरुवार, 30 अगस्त, 2012 को 05:56 IST तक के समाचार

ब्रिटेन में एक शानदार उद्घाटन समारोह में 80 हजार दर्शकों के बीच लंदन 2012 पैरालिंपिक्स का आगाज हो गया.

पैरालिंपिक्स में ब्रिटेन के लिए पहला गोल्ड मेडल जीतने वाले 84 वर्षीय मार्ग्रेट मोघन को मशाल जलाने का सम्मान दिया गया.

आयोजन के उद्घाटन पर खेल के प्रमुख लॉर्ड को ने दर्शकों को बताया, “प्रेरणा लेने के लिए, चकाचौंध के लिए, प्रभावित होने के लिए तैयार हो जाइए.”

आयोजन के शुरू होने से पहले खिलाड़ियों ने ओलंपिक स्टेडियम का चक्कर लगाया.

पैरालिंपिक्स प्रतियोगिता 11 दिनों तक चलेगी जिसमें 164 देशों से 4,200 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. अकेले ब्रिटेन से 300 प्रतियोगी खेल में हिस्सा ले रहे हैं.

गर्व

लंदन स्टेडियम में लॉर्ड को ने कहा, “पैरालिपिक्स खेलों का यहां स्वागत करना मेरे लिए गर्व की बात है.”

उन्होंने कहा कि खेल के लिए ब्रिटेन तैयार है और यहां उम्मीद से ज्यादा लोग इकठ्ठा होंगे.

ब्रिटेन की अंडर-22 व्हीलचेयर बास्केटबॉल टीम के आठ खिलाड़ियों को पैरालिंपिक्स झंडे को स्टेडियम में लाने का सम्मान दिया गया. ब्रिटेन की महारानी द्वारा आयोजन के उद्घाटन से पहले पैरालिंपिक्स झंडे को वहां की सेना ने फहराया.

उद्घाटन समारोह के अंतिम दौर में अफगानिस्तान में अपने पैर खो चुके रॉयल मरीन कमांडो जो टाउनसेंड ने पैरालिंपिक्स मशाल मार्ग्रेट मोघन को दी.

करतब

आयोजन के शुरू होने से पहले खिलाड़ियों ने ओलंपिक स्टेडियम का चक्कर लगाया.

मोघन ने रोम में 1960 में हुए पैरालिंपिक्स में तीरंदाज़ी में स्वर्ण पदक जीता था.

उन्होंने मैदान पर एक छोटे से दीप को प्रज्ज्वलित किया जिससे कांस्य के 200 दिए जल उठे.

आयोजन का उद्घाटन प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंग्स के कार्यक्रम से हुआ जिसमें एयरोबिलिटी संस्था के विकलांग सदस्यों ने हवाई करतब दिखाए.

एक गोले ने ‘बिग बैंग’ को प्रज्ज्वलित किया, जिसके बारे में जाने-माने भौतिकविज्ञानी स्टीफन हॉकिंग्स ने काफी कुछ लिखा है. स्टेडियम के अंदर खूबसूरत आतिशबाजी भी देखने को मिली.

उद्घाटन समारोह में करीब तीन हजार स्वयंसेवकों ने हिस्सा लिया. समारोह को आयोजकों ने विज्ञान और मानवता से प्रेरित बताया.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.