तेहरान में मनमोहन ज़रदारी की होगी मुलाकात

 गुरुवार, 30 अगस्त, 2012 को 11:24 IST तक के समाचार
मनमोहन सिंह और एसएम कृष्णा

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह गुरुवार को पाकिस्तान के राष्ट्रपति ज़रदारी से मुलाकात करेंगे.

ईरान में गुरुवार से शुरु हुए दो दिनों के गुटनिरपेक्ष आंदोलन के सम्मेलन के साथ ही भारतीय प्रधानमंत्री और पाकिस्तानी राष्ट्रपति के बीच मुलाकात होने वाली है.

समाचार एजेंसियों के अनुसार मनमोहन सिंह और आसिफ़ अली ज़रदारी भारतीय समयानुसार गुरुवार शाम को मिलेंगे.

जानकारों का कहना है कि मुंबई हमलों के अभियुक्त अजमल कसाब की सुप्रीम कोर्ट द्वारा फांसी की सज़ा बरक़रार रखे जाने की पृष्ठभूमि में होने वाली इस बातचीत में आतंकवाद के मुद्दे पर खासी चर्चा हो सकती है.

सम्मेलन में हिस्सा लेने गए भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने बुधवार को कसाब पर सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला आने के बाद बिना मौका खोते हुए आतंकवाद के मुद्दे की ओर ध्यान दिलाया.

कृष्णा ने कहा, “मुझे यक़ीन है कि पाकिस्तान इसका संज्ञान लेगा. भारत में सुप्रीम कोर्ट अपील करने की सबसे बड़ी अदालत है और जब ये अदालत कोई फ़ैसला सुनाती है तो ये कानून बन जाता है.”

मुर्सी, अहमदीनेजाद के लिए मौका

उधर मोहम्मद मोर्सी मिस्र के नए राष्ट्रपति चुने जाने के बाद पहली बार किसी अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में हिस्सा लेने तेहरान पहुंचे हैं.

बीबीसी संवाददाता के अनुसार ये सम्मेलन परमाणु ऊर्जा के मुद्दे पर काफ़ी दबाव झेल रहे ईरान के लिए अपना पक्ष रखने का उपयुक्त अवसर है.

इस बीच तेहरान पहुंचे संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने ईरान से आग्रह किया है कि वो अपने परमाणु कार्यक्रम के गैर-सैनिक होने के प्रति यकीन दिलाए.

अमरीका ने ईरान पर परमाणु कार्यक्रम की वजह से कड़े प्रतिबंध लगा रखे हैं.

गुटनिरपेक्ष सम्मेलन के एजेंडे में सीरिया का संकट, मानवाधिकार का मुद्दा और परमाणु निरस्त्रीकरण जैसे विषय शामिल हैं.

दो दिनों के इस सम्मेलन में 50 देशों के नेता शामिल हो रहे हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.