इश्क के 'तालों' पर गिरी सरकार की गाज

Image caption पुल पर लगे तालों को हटाया जा रहा है

इटली की राजधानी रोम में एक ऐतिहासिक पुल पर प्रेमी जोड़ियों द्वारा लगाए गए हज़ारों ताले हटाए जा रहे हैं.

टाइबर नदी के उपर बने पोंटे मिल्वियो ब्रिज को वर्षों से प्रेमी युगल तालों से सजाते आए हैं.

ये ताले उनके प्यार की मज़बूती और एक दूसरे के दिलों पर आजीवन पहरे को दर्शाते हैं.

इस रीति की शुरुआत फेड्रिको मोकिया के एक उपन्यास के बाद शुरु हुई जिसमें दो प्यार करने वाले इस पुल पर एक ताला लगाते हैं और चाबी को दरिया में फेंक देते हैं.

इसका ये भाव था कि दोनों ने सदा के लिए अपने दिलों को एक साथ जोड़ लिया है.

ये किताब लोकप्रिय हुई और उसके साथ ये रीति भी...लोग पुल के किनारों पर लगे लोहे के जंज़ीरों पर ताले लगाने लगे.

पुल को खतरा

लेकिन अब शहर के अधिकारियों का कहना है कि इन तालों से पुल पर जंग लगना शुरु हो गया है और ये ऐतिहासिक पुल खतरे में आ गया है.

रोम की नगर परिषद ने इन तालों को हटाने का हुक्म दिया है और लोहे काटने वाली आरा मशीन से उन तालों को काटा जा रहा है.

ये पहली बार नहीं है जब रोम के अधिकारियों ने तालों को हटाने का आदेश दिया है.

इससे पहले वर्ष 2007 में रोम के मेयर ने पुल पर ताला लगाने पर 50 यूरो का जुर्माना लगा दिया था.

लेकिन इस कदम का विरोध भी होता रहा है.

रोम में बीबीसी के संवाददाता एलन जौंस्टन का कहना है कि इस रीति से जुड़े लेखक भी मानते हैं कि उन तालों को नहीं छूना चाहिए.

संबंधित समाचार