काबुल में विदेशियों पर हमला, 13 की मौत

 मंगलवार, 18 सितंबर, 2012 को 11:36 IST तक के समाचार
काबुल में हमला

धमाके को महिला हमलावर ने अंजाम दिया.

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक व्यस्त सड़क पर मिनी बस में हुए आत्मघाती धमाके में कम से कम 13 लोग मारे गए हैं जिनमें ज्यादातर विदेशी हैं.

इस बस में काबुल एयरपोर्ट पर काम करने वाले विदेश लोग सवार थे. मरने वालों में सड़क पर चल रहा एक व्यक्ति और एक मैकेनिक भी शामिल हैं.

हिज्ब-ए-इस्लामी नाम के एक चरमपंथी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. उसका कहना है कि ये हमला अमरीका में बनी एक इस्लाम विरोधी फिल्म के विरोध में किया गया है.

संगठन का कहना है कि आत्मघाती हमलावर एक महिला थी. लेकिन काबुल के पुलिस प्रमुख का कहना है कि उन्हें हमले में मारे गए लोगों के पेशे या राष्ट्रीयता के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

बढ़ते हमले

ये हमला ऐसे समय में किया गया है जब नैटो ने घोषणा की है कि वो अब से अफगान बलों के साथ अपनी गतिविधियों को सीमित करेगा. हाल के महीनों में अफगान सुरक्षा बलों के सदस्यों ने विदेशी सेनाओं पर कई हमले किए हैं.

"हम इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि इस हमले को महिला आत्मघाती हमलावर ने अंजाम दिया. वो या तो एक लड़की थी या एक महिला."

एक अफगान अधिकारी

नैटो के इस फैसले के पीछे इस्लाम विरोधी फिल्म पर बढ़ते गुस्से को भी वजह माना जा रहा है.

एक चश्मदीद ने बताया कि हमलावर एक अन्य वाहन पर सवार था और उसने मिनी बन को निशाना बनाया.

काबुल में एक आतंकवाद निरोधक अधिकारी ने बीबीसी को बताया, “हम इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि इस हमले को महिला आत्मघाती हमलावर ने अंजाम दिया. वो या तो एक लड़की थी या एक महिला.”

मरने वालों में ज्यादातर विदेशी बताए जा रहा हैं. ये सभी लोग काबुल के हवाई अड्डे पर एक विदेशी कुरियर कंपनी के लिए काम करते थे.

काबुल में बीबीसी संवाददाता बिलाल सरवरी का कहना है कि मरने वालों में तीन अफगान शामिल हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.