ईरान और सीमंस के बीच गहराया विस्फोटकों का रहस्य

  • 24 सितंबर 2012
ईरान का पारचीन परमाणु संयंत्र
Image caption ईरान ने हमेशा कहा है कि उसके परमाणु कार्यक्रम का सैन्य मकसद नहीं है.

जर्मन इंजीनियरिंग कंपनी सीमंस ने इस आरोप से इंकार किया है कि उसने ईरान के लिए निर्धारित परमाणु उपकरणों के अंदर विस्फोटक सामग्री रखी थी.

कंपनी ने कहा कि 'उसके ईरान के परमाणु कार्यक्रम के साथ किसी तरह के व्यावसायिक संबंध नहीं हैं.'

एक ईरानी संसद सदस्य ने कहा था कि विस्फोटक का पता उनमें विस्फोट से पहले ही लग गया लेकिन उन्होंने ये नहीं बताया कि ये उपकरण कहां से आए थे.

पश्चिमी देशों का कहना है कि ईरान परमाणु बम बना रहा है. संयुक्त राष्ट्र ने ईरान पर प्रतिबंध लगा रखे हैं. लेकिन ईरान हमेशा इस बात से इनकार करता आया है कि उसके परमाणु कार्यक्रम का कोई सैन्य मकसद है.

ईरानी संसद की सुरक्षा समिति के प्रमुख अलाएदीन बोरोजेरदी ने शनिवार को सीमंस पर आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि विस्फोटक, सीमंस के एक कारखाने में लगाए गए थे और कंपनी को इसकी ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए.

लेकिन म्यूनिख स्थित जर्मन कंपनी ने इस आरोप से इंकार किया है. कंपनी का कहना था कि वर्ष 1979 की इस्लामी क्रांति के बाद से उसके परमाणु डिविज़न का ईरान से कोई व्यावसायिक संबंध नहीं रहा है.

आरोप-प्रत्यारोप

Image caption इसरायली प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने चेतावनी दी है कि परमाणु बम बनाने के लिए "90 प्रतिशत" सामग्री जुटाने से ईरान सिर्फ़ 6-7 महीने दूर है.

इस बीच इसराइल के प्रधानमंत्री बेंजमिन नेतन्याहू ने चेतावनी दी है कि परमाणु बम बनाने के लिए "90 प्रतिशत" सामग्री जुटाने से ईरान सिर्फ़ 6-7 महीने दूर है. उन्होंने अमरीका से कहा है कि वो ईरान के लिए एक सीमा तय कर दे जिसे पार करने पर सैन्य कार्यवाई की जा सकती है.

लेकिन ईरान ने भी चेतावनी दी है कि अगर उस पर हमला हुआ, तो वो इसका जवाब देगा.

ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के एक वरिष्ठ कमांडर, ब्रिगेडियर जनरल अमीर अली हाजीज़ादेह ने रविवार को कहा कि इस तरह का संघर्ष "तीसरे विश्व युद्ध में बदल सकता है."

इसी दिन ईरानी संसद सदस्य जवाद जहांगीरज़ादेह ने अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी यानी आईएईए के अध्यक्ष युकिया अमानो पर ईरान के परमाणु कार्यक्रम की गुप्त जानकारी इसराइल को देने का आरोप लगाया था.

पिछले कुछ समय से ईरानी अधिकारी आईएईए पर लगातार हमले करते रहे हैं. कुछ दिन पहले ईरान के परमाणु कार्यक्रम के प्रमुख ने दावा किया था कि शायद आईएईए में चरमपंथियों और तोड़-फोड़ करने वाले लोगों ने घुसपैठ कर ली है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार